न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कोयलांचल : नहाय-खाय के साथ शुरू हुआ महापर्व छठ

31

Dhanbad/Jhariya : नहाय खाय यानी कद्दू-भात के साथ चार दिवसीय छठ महापर्व शुरू हो गया. कोयलांचल में दीपावली के बाद से ही छठ महापर्व की गहमा-गहमी बढ़ गयी थी. अब इसमें और तेजी आ गयी है. इस बार कद्दू का दर भी सामान्य रहा. विभिन्न बाजार में 30 से लेकर 50 रुपये प्रति किलो की दर से बिका. व्रतियों ने स्नान कर रविवार सूर्य भगवान के पूजन के बाद श्रद्धापूर्वक कद्दू-भात बनाकर उसे प्रसाद रूप में ग्रहण किया. इस प्रसाद को प्राप्त करने छठ व्रतियों के यहां श्रद्धालु काफी संख्या में पहुंचे. इधर, फल, फूल, सूप, दौउरा का बाजार हर तरफ सज गया है. हर ओर छठी मइया की महिमा का बखान करनेवाले गीत बज रहे है. धनबाद के एसएसपी मनोज रतन चोथे ने छठ के अर्घ्य के दौरान घाटों की तरफ जानेवाले रास्ते में छठव्रतियों की सुविधा को ध्यान में रखकर खास ट्रैफिक प्लान जारी किया है.

वहीं झरिया में आस्था का महापर्व छठ नहाय खाय के साथ शुरू हो गया है. छठ महापर्व को लेकर तैयारियां जोरों पर है. व्रतियों के घर छठ मैया के गीत से गूंजने लगे हैं. रविवार को व्रतियों ने सबसे पहले नदी, तालाब इत्यादि स्थानों पर पवित्र होकर भगवान सूर्य को अर्घ्‍य अर्पण करेंगी और घर में अरवा चावल, चना दाल और कद्दू का प्रसाद बनायेंगी. इसके बाद घर परिवार के सभी लोग इस नहाय खाय के प्रसाद को ग्रहण करेंगे. सोमवार को खरना में व्रतिया आम की लकड़ी पर चुपड़ी और गाय के दूध से अरवा चावल का खीर बनायेंगी. इसके बाद व्रति पूजा घर में विधि विधान से छठ मईया की पूजा अर्चना करेंगी.  छठी मइया को केले के पत्ते पर खीर, चुपड़ी, केला ओर दूध अर्पित करेंगी.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp1
You might also like
%d bloggers like this: