Business

#Coal_India  : कोयले का उत्पादन 3.9 प्रतिशत घटा, बिजली क्षेत्र को कोयला आपूर्ति में सात प्रतिशत गिरावट

NewDelhi : सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी कोल इंडिया की बिजली क्षेत्र को कोयला आपूर्ति चालू वित्त वर्ष की अप्रैल-जनवरी अवधि में 6.8 प्रतिशत घटकर 37.79 करोड़ टन रही. इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में कंपनी की बिजली क्षेत्र को कोयला आपूर्ति 40.56 करोड़ टन थी.

Sanjeevani

आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, जनवरी में कोल इंडिया की बिजली कंपनियों को कोयला आपूर्ति 2.9 प्रतिशत बढ़कर 4.32 करोड़ टन रही जो पिछले वित्त वर्ष की जनवरी में 4.2 करोड़ टन थी.

MDLM

कोल इंडिया की अनुषंगी सिंगरेनी कॉलरीज कंपनी लिमिटेड ने अप्रैल-जनवरी अवधि में 4.40 करोड़ टन कोयले की आपूर्ति की जो इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में की गयी 4.52 करोड़ टन कोयला आपूर्ति से 2.6 प्रतिशत कम है.

इसे भी पढ़ें : #CM_Yogi ने कहा- बढ़ती जनसंख्या के कारण बढ़ी बेरोजगारी, एक योजना से 5 लाख युवाओं को रोजगार देने का दावा

 मानसून की लंबी अवधि के कारण चालू वित्त वर्ष में कोयले का उत्पादन घटा 

एक अधिकारी ने बारिश को कोयला क्षेत्र का दुश्मन बताते हुए कहा कि जुलाई के बाद मानसून के लंबी अवधि तक बने रहने से भी चालू वित्त वर्ष में कोयला का उत्पादन घटा है. कोल इंडिया का अप्रैल-जनवरी अवधि में उत्पादन भी 3.9 प्रतिशत घटकर 45.15 करोड़ टन रह गया है.

इसे भी पढ़ें : #Bengaluru में ओवैसी के मंच पर PAK समर्थित नारेबाजी लगाने वाली लड़की गिरफ्तार, 14 दिनों के लिए भेजी गयी जेल

2023-24 तक कोयला उत्पादन एक अरब टन पहुंचाने का लक्ष्य

इससे पिछले वित्त वर्ष 2018-19 की इसी अवधि में कंपनी का कोयला उत्पादन 46.96 करोड़ टन था. हालांकि कोल इंडिया ने अगले वित्त वर्ष में कोयला उत्पादन 75 करोड़ टन रहने का अनुमान जताया था. कोयला मंत्री प्रहलाद जोशी ने कहा था कि कोल इंडिया का वित्त वर्ष 2023-24 तक कोयला उत्पादन एक अरब टन पहुंचाने का लक्ष्य है.

इसे भी पढ़ें : #AIMIM प्रवक्ता वारिस पठान की चौतरफा निंदा, ओवैसी बैकफुट पर, मीडिया से बातचीत पर रोक लगायी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button