Jharkhandlok sabha election 2019Ranchi

CM सूचना केंद्र के निदेशक कर रहे हैं बीजेपी के लिए काम: जेएमएम

विज्ञापन

Ranchi: झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम) ने एक बार फिर सरकारी पद पर बैठे एक अधिकारी पर बीजेपी के लिए काम करने का आरोप लगाया है. यह आरोप जनसंपर्क विभाग (आईपीआरडी) स्थित मुख्यमंत्री सूचना केंद्र में निदेशक पद पर कार्यरत सौरभ के.भारद्वाज पर लगाया है.

उनकी नियुक्ति गत 20 फरवरी को विभाग द्वारा एक कार्यालय आदेश निकाल कर की गयी थी. प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने पार्टी मुख्यालय में आयोजित प्रेस वार्ता में बताया कि सौरभ के भारद्वाज अपने पद पर बैठकर बीजेपी के लोकसभा का दायित्व निभा रहे है.

इस दौरान उन्होंने बीजेपी के चुनावी घोषणा पत्र पर भी जमकर निशाना साधा.

इसे भी पढ़ेंः गिरिडीह, रांची और जमशेदपुर लोकसभा सीटों पर महतो रूठा तो सबकुछ छूटा

बर्खास्त कर आपराधिक मुकदमा दर्ज कराने की मांग

सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) ने गत 5 अप्रैल को अपने फेसबूक अकांउट में एक पोस्ट शेयर किया था. इसमें कहा गया था कि @BjpDhanbad के द्वारा सोशल मीडिया एवं मीडिया की   कार्यशाला आयोजित हुई. जिसमें @Bjym सोशल मीडिया के सदस्य सौरव भारद्वाज उपस्थित थे.

यह साफ संकेत है कि झारखंड सरकार का एक अधिकारी अपने पद पर बैठकर बीजेपी का काम कर रहा है. इतना ही नहीं अधिकारी सौरभ ने खुद भी दावा किया है कि वे बीजेपी के राष्ट्रीय सोशल मीडिया सेल के सचिव हैं.

जेएमएम ने इस अधिकारी की कार्यशैली को लेकर चुनाव आयोग से शिकायत भी की है. साथ ही मांग की है कि उन्हें तत्काल बर्खास्त कर उनपर आपराधिक मुकदमें दर्ज किया जायें.

इसे भी पढ़ेंः रांची लोकसभा सीट के लिए सिर्फ 6 दिन ही हो सकेगा नामांकन, 2376 बूथों पर होगा मतदान

वायदा नहीं, व्यक्तिगत है बीजेपी का चुनावी संकल्प पत्र

प्रेस वार्ता के दौरान सुप्रियो भट्टाचार्य ने बीजेपी के चुनावी घोषणा पत्र पर भी सवाल खड़ा किया. कहा कि इस पत्र में बीजेपी ने केवल उन्हीं मुद्दों को दोहराया है जो 2014 में की गयी थी.

ऐसे मुद्दे में राम मंदिर निर्माण, जम्मू-कश्मीर से धारा 370 और 35 (A) को हटाना, आतंकवाद से कोई समझौता नहीं शामिल है. जबकि पूरा देश जानता है कि आज आतंकवाद का पर्याप्य बना अजहर मसूद को सरकारी सुरक्षा में किसने पाकिस्तान तक पहुंचाने का काम किया था.

सबसे विचित्र बात है कि पीएम मोदी ने 2014 के चुनावी घोषणा पत्र में प्रतिवर्ष 2 करोड़ रोजगार युवाओं को देने का वायदा किया था. जबकि इस चुनाव में जारी पत्र में रोजगार की कोई बात ही नहीं की गयी है.

उन्होंने कहा कि बीजेपी का यह संकल्प केवल एक व्यक्तिगत संकल्प है. यह देशवासियों के साथ किया वायदा नहीं है.

इसे भी पढ़ेंः दंतेवाड़ाः नक्सली आईईडी हमले में भाजपा विधायक की मौत, काफिले के साथ चल रहे सुरक्षा बल के पांच जवान भी शहीद

Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close