JharkhandRanchi

सीएम चाहते हैं कि सभी प्रशासनिक पावर भाजपा वर्कर्स पर रहे, स्थिति स्पष्ट करें अधिकारी :  जेएमएम

Ranchi: भाजपा कार्यकर्ताओं की बात नहीं सुनने पर प्रशासनिक अफसरों पर कार्रवाई करने के सीएम के बयान को जेएमएम ने गैर-संवैधानिक बताया है. पार्टी प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि सीएम चाहते हैं कि सभी प्रशासनिक पावर भाजपा के पॉलिटिकल वर्कर्स के पास रहे, इसलिए उन्होंने यह बयान दिया. भाजपा कार्यकर्ताओं के हित में सीएम का यह बयान सम्पूर्ण प्रशासनिक तंत्र के खिलाफ है. भाजपा या आरएसएस से वेतन नहीं लेने वाले अधिकारियों को इसपर स्थिति स्पष्ट करनी चाहिये. मुख्यमंत्री को समझना चाहिये कि देश संविधान के कानून से चलता है, न कि भाजपा और आरएसएस के विचारों से. सीएम ने बता दिया है कि भाजपा शासन में पूरा देश अराजकता की ओर है. जेएमएम कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन की सम्पति पर दिये बयान पर उन्होंने कहा कि जेएमएम की सरकार बनते हुए सबसे पहला काम रघुवर दास की अवैध सम्पति का कच्चा-चिट्ठा जनता के समक्ष लाया जायेगा.

साजिश के तहत किया जा रहा है सम्मेलन 

हरमू मैदान में मंगलवार को आयोजित कार्यकर्ता शक्ति सम्मेलन पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि सम्मेलन का आयोजन भाजपा के एक साजिश का हिस्सा है. ऐसे सम्मेलन कर मुख्यमंत्री बताना चाहते हैं कि प्रशासनिक पावर अब पॉलिटिकल वर्कर्स के हाथों में आ जाए. सम्मेलन में उन्होंने इसे देखते हुए यह बयान प्रशासनिक अधिकारियों को दिये थे. दूसरी तरफ सम्मेलन का हकीकत यह रहा कि भाजपा के ही कार्यकर्ता इस सम्मेलन में नदारत रहे. कुर्सियां खाली थीं. केवल मंच भरा हुआ था. राज्य के प्रशासनिक अफसरों पर सवाल करते हुए सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि राज्य में क्या ऐसे भी प्रशासनिक अधिकारी कार्यरत हैं, जो आरएसएस से वेतन लेते हैं या उनसे अपना सीआर लिखवाते हैं. अगर ऐसा नहीं है, तो ऐसे अफसरों को सीएम के बयान पर अपनी स्थिति स्पष्ट करनी चाहिये.

advt

धमकी देने से नहीं डरेंगे जेएमएम कार्यकर्ता 

हेमंत सोरेन के सम्पति पर दिये बयान पर सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि अगर सीएम के पास कोई पुख्ता सबूत है, तो उसे तत्काल ही सार्वजनिक करना चाहिये. केवल उनके गीदड़ धमकी देने से हेमंत सोरेन या जेएमएम का कोई कार्यकर्ता नहीं डरेगा. उन्होंने कहा कि पार्टी अध्यक्ष की हर सम्पति का ब्योरा आयकर विभाग के पास है. पार्टी ने तो कई बार मांग की है कि देवाशीष कमिटी की रिपोर्ट को भाजपा सार्वजनिक करें, लेकिन ऐसा न कर सीएम जनता को गुमराह ही करते रहे हैं. जहां तक सीएम की सम्पत्ति घोषणा की बात है, तो मुख्यमंत्री को यह कार्य जेएमएम पर छोड़ देना चाहिये. जेएमएम की सरकार बनती है तो सीएम के पांच सालों में कमाई अवैध सम्पति की जांच जेएमएम करायेगी.

घोटालों का राज्य बन गया है झारखंड 

उन्होंने कहा कि आज मुख्यमंत्री राज्य में सुशासन की बात करते हैं. हकीकत यह है कि भाजपा राज्य में पूरा झारखंड घोटालों का राज्य बन गया है. झारक्राप्ट का कंबल घोटाला, शाह ब्रदर्स का खनन घोटाला, मोमेंटम घोटाला, अभूतपूर्व नियुक्ति घोटाला, फर्जी उद्घाटन घोटाला, नवनिर्माण हाईकोर्ट और विधानसभा भवन निर्माण घोटाला सभी भाजपा की बड़ी उपलब्धि हैं. उन्होंने कहा कि पहले भी गोविंदपूर-साहेबगंज सड़क निर्माण कार्य पूरा ही नहीं हुआ था कि पीएम से इसका उद्घाटन करा दिया गया. ठीक इसी तरह आगामी 17 फरवरी को मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन पीएम करेंगे. जमीनी हकीकत यह है कि अभी तक मेडिकल कॉलेज का इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार ही नहीं हुआ है.

इसे भी पढ़ेंः पोटका थाना के एएसआइ को ACB ने 9 हजार घूस लेते किया गिरफ्तार

Nayika

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: