न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सीएम साहब! रैंप पर फिर कभी चल लीजियेगा, अभी चिकनगुनिया से प्रभावित इलाकों का जायजा ले लीजिये : झाविमो

297

Ranchi : झारखंड विकास मोर्चा के केंद्रीय प्रवक्ता योगेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि कितनी विडंबना है कि राजधानी में महामारी का रूप लेते चिकनगुनिया, डेंगू, मलेरिया के प्रकोप से लोग मर-जूझ रहे हैं और प्रदेश के मुखिया रैंप पर अपना जलवा बिखेर रहे हैं. सीएम साहब, रैंप पर फिर कभी चल लीजियेगा, अभी प्रभावित इलाकों की गलियों में जाकर थोड़ा जायजा ले लेते, तो शायद जनता का कुछ भला हो जाता. हिंदपीढ़ी के बाद लालपुर, मेन रोड, मोरहाबादी, कोकर, बरियातू, आजाद बस्ती, एमजी मार्ग, डोरंडा, कांटाटोली, विद्यानगर आदि स्थानों पर भी यह पांव पसार चुका है, परंतु अभी तक सरकार कुंभकर्णी नींद से जागी नहीं है. साफ-सफाई और जांच शिविर लगाकर केवल खानापूर्ति कर रही है. वहीं, हिंदपीढ़ी थना के पुलिसकर्मी भी बीमार हैं. चिकनगुनिया  की चपेट में पूरा थाना परिसर भी आ चुका है, इसके बाद भी सरकार की नींद नहीं खुल रही है. लगता है राज्य सरकार थोक के भाव में लोगों की मौत के इंतजार में है.

mi banner add

इसे भी पढ़ें- लोग चिकनगुनिया से लड़ रहे हैं और मुख्यमंत्री कर रहे फैशन शो में कैटवॉक : झामुमो

स्वच्छता के लिए अवार्ड मिला, तो महामारी कैसे फैल गयी?

Related Posts

पलामू : डायरिया से बच्चे की मौत, माता-पिता व भाई गंभीर, गांव में दर्जन भर लोग पीड़ित

स्वास्थ्य विभाग के डायरिया नियंत्रण की खुली पोल, आनन-फानन में कुछ लोगों को एंबुलेंस से भेजा अस्पताल

सिंह ने कहा कि सवाल यह भी है कि जब केंद्र ने साफ-सफाई में बेहतर कार्य के लिए झारखंड को स्वच्छता अवार्ड से नवाजा है, तो फिर राजधानी में ही ऐसी महामारी कैसे? कभी-कभी तो लगता है कि भाजपा यह न कह दे कि इसमें भी विपक्ष का हाथ है. स्पष्ट है, केवल कागजों पर ही झारखंड सभी मामलों में अव्वल है, जमीनी हकीकत इसके ठीक विपरीत है. चारों ओर कूड़ों का भंडार है, नालियां बजबजा रही हैं. फॉगिंग की कोई व्यवस्था नहीं है और न ही डीडीटी का छिड़काव ही किया जा रहा है. सरकार की कोई तैयारी नहीं है. जब कोई संकट आता है, तब सरकार थोड़ी-सी करवट लेती है और फिर सो जाती है. बताया जाता है कि राज्य सरकार व विभाग को इस महामारी के फैलने का अंदेशा था, परंतु अपेक्षित तत्परता नहीं दिखाना दुखद है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: