Ranchi

एक्शन और इमोशन से भरपूर सीएम का सीधी बात कार्यक्रम, निशाने पर रहे पथ सचिव केके सोन

  • केके सोन से कहा, प्रक्रिया मत समझाइये, प्रक्रिया हम करेंगे पूरी- टाइम बांड बताओ
  • आइएएस सुचित्रा सिन्हा को फटकाराः कहा- बैठने की जगह नहीं मिली तो खड़े रहना चाहिये, नौकरी कर रहे हैं
  • सभी जिलों के एसपी को चेताया, देख लीजिये आम लोगों की थाने के प्रति क्या है धारणा

Ranchi: सूचना भवन में गुरुवार को हुई सीधी बात कार्यक्रम पूरी तरह से एक्शन और इमोशन से भरा रहा. इस दौरान दुमका की शिकायतकर्ता शांति मुर्मू ने कहा कि रिंग रोड निर्माण के लिये 2013-14 में जमीन अधिग्रहण किया गया था, अब तक मुआवजे की राशि 10 लाख 86 हजार 400 रुपये का भुगतान नहीं हुआ है. इस पर पथ निर्माण विभाग के सचिव केके सोन ने कहा कि प्रक्रिया चल रही है. इस जवाब पर सीएम भड़क गये. कहा- प्रक्रिया मत समझाओ. टाइम बांड बताओ. प्रक्रिया हम पूरा करेंगे. साथ ही मुर्मू को कहा कि एक महीने के अंदर मामले का निष्पादन हो जायेगा.

इसी तरह बसिया के साधु शरण प्रसाद साहू ने कहा कि प्रखंड के 100 किसानों की फसल 2018 में कम बारिश के कारण बर्बाद हो गई. लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है. इस पर सीएम ने पूछा रजिस्ट्रार कॉपरेटिव कहां है. वहीं मौजूद अफसर ने कहा कि वो आई थीं, लेकिन बैठने की जगह नहीं मिलने के कारण निकल गईं. इस पर सीएम एक्शन में आ गये. कहा कि- हद है नौकरी कर रहे हैं. जगह नहीं थी तो खड़े रहना चाहिये. फिर कहा: बुलाओ उसे…. फिर सुचित्रा सिन्हा को बुलाया गया. सीएम ने कहा कि फसल बीमा को लेकर मुख्यालय स्तर पर बैठक करें. सीएम ने कहा कि जनसंवाद में सभी अफसरों का रहना जरूरी है.

हुजूर बिना पैसे के थाने में एफआइआर नहीं होती

Sanjeevani

सरायकेला-खरसांवा से आये शिकायकर्ता सत्य किंकर वर्मा ने कहा कि मेरी रैयती जमीन तीन एकड़ को आदित्यपुर औद्योगिक क्षेत्र विकास प्राधिकार ने एनओसी दे दी है. कहा है कि जमीन अधिग्रहित नहीं है. फिर इसका रसीद नहीं कट रहा है. वहां की सीओ कामिनी कौशल लकड़ा बोलती है कि बिना पैसे के काम नहीं होता. कहीं भी जाइये, घूम-फिर कर यहीं आइयेगा. थाना में बिना पैसा दिये एफआइआर नहीं होती. सभी सरकारी विभागों का यही हाल है. इस पर वहां के डीसी ने कहा कि आयडा से रिपोर्ट आ गई है. जमीन अधिग्रहित नहीं की गयी है. इस सप्ताह में पंजी टू पर चढ़ा दिया जायेगा. इसके बाद सीएम एक्शन में आये. सभी जिलों के एसपी को चेताया, कहा-देख लीजिये आम लोगों की थाने के प्रति क्या धारणा है. पुलिस के लिये यह चिंता का विषय है.

कुजू थाने के थानेदार को आज ही सस्पेंड करो

रामगढ़ से आये वीरेंद्र महतो ने कहा कि पांच जुलाई 2018 को पासपोर्ट बनाने के लिये आवेदन दिया था. लेकिन मेरे ऊपर थाने में चार केस दर्ज बता दिया गया. इस पर रामगढ़ एसपी ने कहा कि तत्कालीन थाना प्रभारी ने गलत रिपोर्ट दी थी. क्लीयरेंस रिपोर्ट आ चुकी है कोई केस नहीं है. थानेदार को शोकॉज किया गया है. इस पर सीएम ने कहा कि शॉकॉज नहीं उसे आज ही सस्पेंड करो. अगर वीरेंद्र महतो को नौकरी के लिये अर्जेंट में जाना होता को वह फंस जाता. भविष्य के साथ खिलवाड़ नहीं होना चाहिये. सरकार में लापरवाही बर्दाश्त नहीं.

वहीं रांची की मीरा देवी ने कहा कि मेरी ननद के पति की मृत्यु सेवाकाल के दौरान 2006 में हो गई थी. अब तक पेंशन नहीं मिला है. इस पर रांची डीसी ने कहा कि एक सप्ताह में पेंशन मिल जायेगा.

सीधी बात कार्यक्रम में इमोशन भी

खूंटी से आई संजू देवी ने कहा कि मेरे बेटे को थाने से 300 मीटर की दूरी पर ही गोली मार कर हत्या कर दी गई. लेकिन आज तक अपराधियों को नहीं पकड़ा जा सका है. वह अपने बेटे की फोटो भी लेकर आई थीं. इस पर खूंटी एसपी ने कहा कि इस मामले में पीएलएफआइ के दो उग्रवादियों को गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने इस कांड में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है. इस पर संजू देवी ने कहा कि उन्हें अंजली सुनीता गोप और अश्विनी कुमार धमकी दे रहे हैं. सीएम ने कहा कि आप एसपी से मिल लीजिये.

इसी तरह पलामू के अमित कुमार की हत्या उग्रवादियों ने 14 सितंबर 2007 को कर दी थी, लेकिन अब तक नौकरी और मुआवजा नहीं मिला है. इस पर कहा गया कि एक सप्ताह के अंदर नौकरी और मुआवजा दे दिया जायेगा. पाकुड़ के राजू मंडल को कहा कि कल ही सुकन्या योजना का लाभ मिल जायेगा. एक अन्य मामले में कहा गया कि आंध्र एसोसिएशन हिंदी माध्यम स्कूल कदमा में कार्यरत छह शिक्षकों के वेतन भुगतान पर कहा गया कि टेट पास नहीं है इसलिये वेतन नहीं मिलेगा. जितने दिन उन्होंने काम किया है, उसका भुगतान स्कूल खुद करे. रांची के सौरभ कुमार की शिकायत पर कहा कि 10 दिन के अंदर नौकरी मिल जायेगी.

इसे भी पढ़ेंःमुठभेड़ में ढेर हुआ पीएलएफआइ का रीजनल कमांडर बाजीराम महतो उर्फ बाजीराव सिंघम

Related Articles

Back to top button