JharkhandRanchi

सीएम ने कहा, बची हुई ग्रामीण महिलाओं को #UjjwalaScheme से 30 सितंबर तक जोड़ दिया जायेगा

Ranchi : राज्य की महिलाओं को लकड़ी और कोयले के धुएं के घुटन से मुक्ति देना है. उज्जवला योजना इसमें काफी मददगार है. अब तक 33 लाख महिलाओं को योजना से जोड़ा गया है. बाकी बचे या छूटे हुए परिवारों को 30 सितंबर तक योजना से जोड़ना है. उज्ज्वला योजना के तहत गैस चूल्हा, पहले और दूसरे सिलिंडर की रिफिल निःशुल्क प्रदान करना है. उक्त बातें मुख्यमंत्री रघुवर दास ने 20 सूत्री कार्यक्रम की समीक्षा बैठक में सोमवार को कही.

उन्होंने कहा कि 30 सितंबर तक बाकी बची ग्रामीण महिलाओं को उज्जवला योजना से जोड़ने का कार्य तेजी से चल रहा है. उन्होंने जिला 20 सूत्री उपाध्यक्षों को निर्देश देते हुए कहा कि गांव, पंचायत, प्रखंड और जिला स्तर पर समन्वय बनाकर कार्य करेंगे तो सफलता मिलेगी. इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने हर जिला के 20 सूत्री कार्यक्रमों की समीक्षा भी की.

इसे भी पढ़ें – NEWS WING STING: 70-80 हजार रुपया दो, समाज कल्याण विभाग में #JOB लो

advt

उज्जवला दीदियों से लें सहयोग, 30 सितंबर तक कार्य पूरा करें

उज्जवला योजना की सफलता और महिलाओं को जागरूक करने के लिए पंचायत स्तर पर उज्जवला दीदियों की नियुक्ति की गयी है. सिंतबर तक कार्य पूरा करने के लिए उज्जवला दीदियों का सहयोग महत्वपूर्ण होगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि दीदियों से पूर्व में ही छुटे हुए परिवार को जोड़ने का अनुरोध किया गया है. उन्हें गांव के लाभान्वित महिलाओं को एलपीजी के सुरक्षात्मक उपयोग की जानकारी भी देनी है, इसके लिए उन्हें प्रशिक्षित किया जा रहा है.

कहा कि जिला उपाध्यक्ष गांव, पंचायत और प्रखंड स्तर तक अब तक हुए कार्यों की समीक्षा प्रतिदिन करें. तभी सरकार 30 सितंबर तक उज्ज्वला योजना से सभी जरूरतमंदों को जोड़ने के लक्ष्य को प्राप्त कर पायेगी. उन्होंने कहा कि झारखंड देश का इकलौता राज्य है, जहां पहला और दूसरे सिलेंडर का रिफिल और चूल्हा भी मुफ्त दिया जाता है. कहा कि सभी समुदाय, जाति, धर्म की हर गरीब बहन के घर तक गैस कनेक्शन पहुंचना सरकार की प्राथमिकताओं में है.

इसे भी पढ़ें – हेमंत सोरेन और रवि केजरीवाल के बीच अगर कोई व्यावसायिक रिश्ता है तो उसे स्पष्ट करें : प्रतुल शाहदेव

 

adv
advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button