JharkhandRanchi

पश्चिम सिंहभूम की घटना पर बोले सीएम हेमंत सोरेन – “दोषियों पर होगी कड़ी कार्रवाई”

  • पत्थलगड़ी का विरोध करने वाले 7 लोगों से थे लापता, मिला शव
  • घटना दोबारा नहीं हो, इसलिए बुधवार को सीएम करेंगे उच्चस्तरीय समीक्षा

Ranchi :  पश्चिम सिंहभूम के बुरुगुलीकेला गांव में हुई हिंसक घटना पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने चिंता जतायी है. घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए उन्होंने कहा है कि घटना से वे काफी आहत हैं. इसमें जो भी लोग दोषी हैं. पुलिस उनपर कठोर कार्रवाई करेगी.

मंगलवार को जिले के गुदड़ी प्रखंड के बुरुगुलीकेरा गांव में पत्थलगड़ी का विरोध करने वाले सात ग्रामीणों के लापता होने की खबर थी. खबर लिखे जाने तक लापता हुए सातों ग्रामीणों के शव मिलने की भी खबर है.

इसे भी पढ़ें – आदिवासी जमीन पर है दबंगों का कब्जा, न्याय की आस में सरकारी ऑफिस के चक्कर लगा रहे दिव्यांग दंपती

advt

संबंधित अधिकारियों के साथ करेंगे उच्चस्तरीय समीक्षा

सोशल मीडिया में लिखे अपने शोक संदेश में मुख्यमंत्री ने कहा कि कानून सबसे उपर है. राज्य पुलिस मामले की पूरी मुस्तैदी से जांच कर रही है. घटना में जो भी दोषी शामिल हैं, उसे बख्शा नहीं जाएगा.

संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिया है कि दोषियों पर जल्द कार्रवाई करें. साथ ही भविष्य में ऐसी घटना दोबारा नहीं हो, इसके लिए वे बुधवार को संबंधित अधिकारियों के साथ उच्चस्तरीय समीक्षा करेंगे.

17 जनवरी से ही हुई थी घटना की शुरुआत

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, सोनुवा थाना क्षेत्र के बुरुगुलीकेरा गांव में पत्थलगड़ी समर्थकों के द्वारा गांव में घूम-घूम कर कुछ दस्तावेज मांग कर जमा करने का काम पिछले 10-12 दिनों से चल रहा था. इसी दौरान बीते 17 जनवरी को पत्थलगड़ी विरोधियों का पत्थलगड़ी समर्थकों के साथ मारपीट की घटना हुई थी.

इस घटना में कई पत्थलगड़ी समर्थकों को चोटें भी आयी थी. बताया जा रहा है कि रविवार को पत्थलगड़ी समर्थक और पत्थलगड़ी विरोधियों के बीच फिर से हिंसक झड़प हुई, जिनमें पत्थलगड़ी समर्थकों द्वारा पत्थलगड़ी विरोधी 7 लोगों की हत्या कर दी गयी.

adv

इसे भी पढ़ें – #DelhiElection: केजरीवाल, सिसोदिया, विजेंदर समेत करीब 600 उम्मीदवार आजमा रहे अपनी किस्मत

पत्थलगड़ी समर्थकों ने रविवार को गांव में ग्रामीणों के साथ बैठक की थी

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, पत्थलगड़ी समर्थकों द्वारा 19 जनवरी को गांव में ग्रामीणों के साथ बैठक की गयी थी. इस दौरान पत्थलगड़ी समर्थक इसका विरोध करनेवाले उपमुखिया जेम्स बूढ़ और अन्य छह लोगों को पीटने लगे. जिसके बाद उनके परिजन डरकर वहां से भाग गये. इस क्रम में पत्थलगड़ी समर्थक उपमुखिया जेम्स बूढ़ और अन्य छह लोगों को उठाकर जंगल की ओर ले गये थे.

इसे भी पढ़ें – आदिवासी जमीन पर है दबंगों का कब्जा, न्याय की आस में सरकारी ऑफिस के चक्कर लगा रहे दिव्यांग दंपती

 

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button