lok sabha election 2019Main SliderRanchi

सीएम रघुवर दास का खुलेआम विरोध, ‘रोड नहीं तो वोट नहीं’, ‘Go Back’ के लगे नारे, देखें वीडियो

विज्ञापन

Ranchi: अब बारी पब्लिक की है. और अपनी बारी में जो अपना खेल अच्छे से नहीं खेले, तो उसे हारना पड़ता है. चुनाव भी कुछ ऐसा ही है. यहां पब्लिक को अपनी बारी आने के लिए पांच साल इंतजार करना पड़ता है.

पब्लिक की बारी थोड़े ही समय के लिए पब्लिक के पास होती है. लेकिन इसी बारी में वो अगले पांच साल का भविष्य गढ़ देती है. वोट मर्ज ही ऐसा है कि बड़े-बड़े दिग्गज फिलवक्त पब्लिक के पैर तक को हाथ लगाने में शर्म कतई नहीं महसूस कर रहे हैं.

advt

इस बीच पांच साल का रिपोर्ट कार्ड भी पब्लिक जारी करती है. जब पब्लिक जनप्रतिनिधियों का रिपोर्ट उनके सामने जारी करती है, तो कई बार फजीहत का सामना करना पड़ता है. झारखंड में इस फजीहत का सामना और किसी को नहीं बल्कि सरकार के मुखिया रघुवर दास को ही करना पड़ रहा है.

इसे भी पढ़ेंःकांग्रेस ने दिल्ली में छह उम्मीदवार घोषित किए, उत्तर-पूर्वी सीट पर शीला दीक्षित-मनोज तिवारी में टक्कर 

कांके में सीएम के सामने लगे विरोध के नारे, महिला ने रोक कर कहा- वोट नहीं देंगे

रांची लोकसभा में बीजेपी की जीत के लिए धुआंधार प्रचार हो रहा है. प्रचार में पार्टी अपनी तरफ से पूरी ताकत झोंक दी है. उम्मीदवार के अलावा सभी बीजेपी विधायक भी संजय सेठ का विजय पताका लहराने के लिए कैंपेंनिग कर रहे हैं.

ऐसे में सीएम रघुवर दास खुद से मैदान में हैं. कांके विधानसभा भी रांची के लोकसभा क्षेत्र में आता है. कांके विधानसभा के विधायक बीजेपी से डॉ. जीतू चरण राम हैं. सीएम रघुवर दास रविवार को कांके विधानसभा में बीजेपी के उम्मीदवार के प्रचार के लिए खुद पहुंचे. जहां उन्हें विरोध का सामना करना पड़ा.

adv

दरअसल कांके के युवा सड़क खराब होने की वजह से नाराज थे. उन्होंने प्रचार के दौरान सीएम रघुवर दास का नारा लगाते हुए विरोध किया. उनका कहना था कि रोड नहीं तो वोट नहीं. कुछ युवाओं ने सीएम के सामने Go Back का भी नारा लगाया. एक महिला सुरक्षा घेरा तोड़ते हुए सीएम के पास पहुंची और अपनी नाराजगी जतायी.

इसे भी पढ़ेंःबेगूसराय: कन्हैया के समर्थकों और ग्रामीणों में झड़प, लोगों को घर में घुसकर पीटा

सीएम ने गौर से उसकी बात सुनी और समाधान का भरोसा देकर आगे बढ़ गए. विरोध के दौरान सीएम काफी असहज महसूस कर रहे थे. सबसे ज्यादा गौर करने वाली बात यह है कि इतना सबकुछ वहां के बीजेपी विधायक जीतू चरण राम के सामने हुआ.

इससे पहले चतरा में हुआ बीजेपी सरकार का विरोध

16 अप्रैल को चतरा में जब मौजूदा सांसद क्षेत्र में प्रचार के लिए निकले थे, तो उन्हें काफी विरोध का सामना करना पड़ा. सांसद सुनील सिंह के साथ-साथ लोगों ने राज्य सरकार के कामकाज से भी नाराजगी जतायी थी.

एक वीडियो वायरल है. वीडियो में बीजेपी के मौजूदा सांसद और आगामी लोकसभा में बीजेपी के उम्मीदवार हाथ जोड़े नजर आ रहे हैं. वीडियो में कुछ लोग भीड़ की शक्ल में सांसद से मिलते हैं और कहते हैं कि पांच साल में आपका दर्शन हमलोगों को हुआ. ये हमारा सौभाग्य है. कहा कि पांच साल के बाद जब चुनाव आया है, तो आपको जनता की याद आयी है.

एक आदमी ने कहा कि इनके इलाके में जनता पानी के दुख से मर रही है. बीते पांच साल में ना ही एक बोरिंग हुई और ना एक चापाकल लगा. एक ने कहा कि मेरी उम्र 35 साल हो गयी है, 35 साल से देख रहा हूं कि सड़क की स्थिति वही है.

इसे भी पढ़ेंःपत्नी और तीन बच्चों की हत्या कर सनकी जीजा ने साले को फोन कर कहा- उठवा लो शव

एक ने कहा कि कांग्रेस जब थी तो अस्पताल में बराबर डॉक्टर आता था, अब एक नर्स तक नहीं है. एक ने कहा कि स्कूल की हालत खराब है. स्कूल में एक टीचर नहीं है.

सीएम के 181 में कितना बार नंबर डायल किए हैं. बिजली का भी वही हाल है. इन विरोधों से साफ जाहिर होता है कि सांसद के साथ-साथ चतरा की जनता राज्य सरकार के कामकाज से नाराज है.

बहुत पुरानी मांग है मैंने पहल की हैः जीतू चरण राम

मामले पर कांके के विधायक जीतू चरण राम ने न्यूज विंग से बात की. उनका कहना है कि सुखरुटू बस्ती के गली की यह बात है. वहां सड़क खराब होने की वजह से पानी जमा रहता है. पब्लिक काफी दिनों से यहां सड़क बनाने की मांग कर रही है. मेरी तरफ से सड़क बनाने को लेकर पहल की गयी है.

इंजीनियर को भी साइट दिखाया गया है. सीएम जी ने भी भरोसा दिलाया है कि जल्द ही सड़क तैयार हो जाएगी. पूरे काम का ब्लू प्रिंट तैयार है.

इसे भी पढ़ेंःश्रीलंका सीरियल ब्लास्टः मरने वालों की संख्या हुई 290, एयरपोर्ट के पास मिला एक और बम

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button