JharkhandRanchiTODAY'S NW TOP NEWS

समीक्षा बैठक में बोले सीएम रघुवर दास – 30 लाख नए कनेक्शन से बिजली की खपत बढ़ी

Ranchi : सीएम रघुवर दास मंगलवार को प्रोजेक्ट भवन में ऊर्जा, अरइओ और पेयजल एवं स्वच्छता विभाग की समीक्षा कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने कहा कि लोगों को निर्बाध बिजली और स्वच्छ पेयजल पहुंचाना सरकार की प्राथमिकता में है. 30 लाख नये कनेक्शन देने के बाद से बिजली की खपत बढ़ी है.

इस कारण आधारभूत संरचना को तेजी से बढ़ाने की आवश्यकता है. संचरण लाइन की योजनाओं में तेजी लाया जा रहा है. संचरण लाइन बिछाने में वन विभाग के सहयोग के लिए ऊर्जा विभाग एक नोडल अधिकारी नियुक्त करेगा, जो दोनों विभाग के बीच समन्वय बनाने का कार्य करेगा. सीएम ने कहा कि इससे फॉरेस्ट क्लियरेंस के लिए आवश्यक प्रक्रियाओं को पूर्ण करने में तेजी आयेगी.

इसे भी पढ़ें – सीएम का दावाः साढ़े चार साल में 30 लाख घरों में बिजली पहुंचायी, हकीकतः कनेक्शन तो जुड़ा, देने को बिजली नहीं

advt

मंजूरी मिली परियोजनाओं 10 दिन के अंदर शुरू करें

सीएम ने कहा कि जिन परियोजनाओं के लिए मंजूरी मिल गयी है, उनका काम 10 दिन के भीतर शुरू करें. जितनी तेजी से आधारभूत संरचना का निर्माण होगा, लोगों को उतनी जल्दी परेशानी से मुक्ति मिलेगी. पिछले साढ़े चार साल में बड़ी संख्या में नयी संचरण लाइन बिछाई गयी है. यही कारण है कि पहले की तुलना में बिजली की स्थिति में थोड़ा सुधार है.

नयी लाइन शुरू होने के बाद लोगों की दिक्कत दूर होगी. दशकों से बिजली की बाट जोह रहे लोगों तक बिजली तो पहुंचा दी गयी है, अब उन्हें निर्बाध बिजली उपलब्ध कराने पर तेजी से काम होगा. बैठक में बताया गया कि वर्त्तमान में 15 परियोजनाओं पर कार्य हो रहा है, जिसमें पांच परियोजनाओं के लिए फोरेस्ट क्लियरेंस मिल चुका है. इन पर जल्द काम शुरू होगा.

इसे भी पढ़ें – होल्डिंग टैक्स : टारगेट से 7 करोड़ अधिक की वसूली, अब 60 करोड़ का टारगेट

30 सितंबर तक गांव-गांव पानी पहुंचाने का लक्ष्य

सीएम ने कहा कि पानी की समस्या से भी लोगों को जल्द से जल्द निजात दिलाने के लिए काम में तेजी लायें. संथाल और कोल्हान में पानी की विशेष समस्या है. इन क्षेत्रों में विभाग फोकस करे. आदिम जनजाति टोले, पहाड़िया जनजाति टोले, एसटी-एससी बहुल गांव में विभाग विशेष ध्यान दे.

adv

वहीं साएम ने कहा कि विभाग की ओर से बताया गया कि 2250 आदिम जनजाति टोलो में से अब तक 1026 टोलो में पानी पहुंचा दिया गया. पहाड़िया क्षेत्रों में लिफ्ट के माध्यम से पानी पहुंचाया जा रहा है. गैर आदिवासी गांवों में मुखिया के माध्यम से चयनित क्षेत्रों में पानी की टंकी लगाने का काम शुरू किया जा रहा है.

इस योजना के तहत 30 सितंबर तक गांव-गांव में पानी पहुंचाने का काम पूर्ण करने का लक्ष्य है. दिसंबर तक 50 बड़ी ग्रामीण जलापूर्ति योजना पूर्ण कर ली जायेगी. इससे काफी हद तक संथाल में पानी की समस्या से निजात मिलेगा.

इसे भी पढ़ें – महेश पोद्दार ने JBVNL को दिखाया आईना, कहा- बिजली पर्याप्त, डिस्ट्रीब्यूशन ठीक नहीं, लोड बढ़ना और कम…

 

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button