Bihar

पीएम मटेरियल पर सीएम नीतीश का आया जवाब, कहा- हम सेवक हैं, पीएम बनने की इच्छा और आकांक्षा नहीं

Patna : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पीएम मटेरियल (PM Material) वाले बयान पर अपनी सफाई पेश की है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि वह हमारे पार्टी के साथी हैं, कुछ भी बोल देते हैं, लेकिन हमारे बारे में यह सब बोलने की जरूरत नहीं है. हम सेवक हैं और सेवा कर रहे हैं. हमारे मन में पीएम बनने की कोई आकांक्षा और इच्छा नहीं है.

गौरतलब हो कि बीते दिनों जेडीयू के संसदीय बोर्ड के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पीएम मटेरियल बताया था जिसके बाद एनडीए में जुबानी जंग तेज हो गयी थी. बीजेपी नेता सम्राट चौधरी ने उपेंद्र कुशवाहा को जवाब देते हुए कहा था कि अभी 10 साल तक पीएम की कोई वैकेंसी नहीं है.

advt

वहीं इस पर विवाद बढ़ता देख नीतीश कुमार को सफाई देनी पड़ी और कहा कि उनके मन में पीएम बनने की कोई आकांक्षा और इच्छा नहीं है.

सम्राट चौधरी के बयान पर सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि हमने उनके बयान को देखा नहीं है. वह जिस दल में हैं उनसे पूछिए हम क्या बता सकते हैं. उन्होंने क्या कहा है मुझे पता नहीं लेकिन यदि कोई बात होगी तो बात कर सकते हैं.

गठबंधन इतने दिन से चल रहा है कहीं कोई दिक्कत नहीं है. यदि कोई बात है तो अपनी पार्टी के लोगों से बात करनी चाहिए.

इसे भी पढ़ें :वोडाफोन आइडिया को कर्ज से उबारने के लिए हिस्सेदारी छोड़ने को तैयार कुमार मंगलम बिड़ला

जातिगत जनगणना पर सीएम नीतीश कुमार का बयान

जातिगत जनगणना सीएम नीतीश ने कहा कि पहले भी बातचीत होती रही है. विपक्ष की ओर से एक सुझाव आया तो सब लोगों को मिल कर प्रधानमंत्री से मुलाकात करनी चाहिए. आज ही सब लोगों से बात कर पत्र लिख प्रधानमंत्री से मिलने के लिए आग्रह करेंगे. बीजेपी से भी इसके लिए बातचीत की गयी है.

सीएम नीतीश ने कहा कि जातिगत जनगणना से समाज में तनाव नहीं होगा बल्कि सभी लोगों में खुशी होगी. करना न करना केंद्र सरकार के ऊपर है. लेकिन यह विचार सिर्फ हम लोग नहीं बल्कि कई अन्य राज्य के लोग भी रख रहे हैं. यह सबके हित में बात है. नाराजगी किसी को नहीं होगी.

जातिगत जनगणना के लिए वर्ष 19- 20 में जब केंद्र को प्रस्ताव गया था तब यह बात किसी ने नहीं कही थी, किस से किसी को दिक्कत होगी.

बिहार सरकार के द्वारा अपने हिसाब से जातिगत जनगणना कराने के मसले पर सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि राज्य सरकार का यह ऑप्शन हमेशा ओपन रहेगा.

इसे भी पढ़ें :मुंबई एयरपोर्ट पर अडानी का नाम देख भड़के शिवसेना कार्यकर्ता, विरोध में की तोड़-फोड़

चौटाला से मुलाकात पर सीएम नीतीश का बयान

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला से मुलाकात के बाद नीतीश कुमार ने कहा कि उनके प्रति आज से नहीं बहुत दिनों से हमारे मन में सम्मान है.

एक जमाने में हम सब एक ही दल में रहे हैं. हमारी मुलाकात से बीजेपी को कोई लेना देना नहीं. चौटाला जी से मुलाकात पर बीजेपी को क्यों नाराजगी होगी. यह कोई राजनीतिक बात नहीं. हम लोग समाजवादी पृष्ठभूमि के नेता रहे हैं. मुझे नहीं मालूम यदि हमसे किसी का कोई पुराना संबंध है उस मुलाकात पर किसी को क्यों आपत्ति होगी. कोई नयी बात और खास बात इसमें नहीं है.

वहीं पेगासस जासूसी मामले पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि फोन टैपिंग का मामला बहुत दिनों से आ रहा है इसकी जांच होनी चाहिए. इस मामले पर एक एक बात को देखकर उचित कदम उठाना चाहिए.

फोन सेटिंग के पूरे मामले की जांच होनी चाहिए, इससे सच्चाई सामने आयेगी. फोन टैपिंग मामले से जुड़े लोगों के पास कुछ भी जानकारी हो तो वह सरकार से साझा करनी चाहिए.

इसे भी पढ़ें :5 अगस्त तक पूरे बिहार में बारिश और वज्रपात की चेतावनी, मौसम विभाग ने जारी किया ब्लू अलर्ट

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: