JharkhandLead NewsRanchi

सीएम हेमंत ने पीएम मोदी को लिखा पत्र, कहा- यूक्रेन से वापस लौटे छात्रों को देश के कॉलेजों में मिले दाखिला

Ranchi: यूक्रेन के रूसी आक्रमण ने अचानक उनकी पढ़ाई बाधित कर दी और यह केवल आपके हस्तक्षेप के कारण था कि उन्हें सुरक्षित रूप से घर वापस लाया जा सका. ऐसे 180 से अधिक छात्र झारखंड लौट चुके हैं. अब इनका भविष्य अधर  में लटक गया है. क्योंकि ये छात्र बिच में अपनी पढ़ाई छोड़ कर वापस आ गए हैं. ये सभी  मेडिकल के छात्र हैं, जिन्होंने एक या दो वर्ष कि पढ़ाई ही पूरी कर पाए हैं. अब इनकी पढ़ाई पूरी हो ऐसे ठोस कदम उठाने चाहिए. मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री को पत्र लिख आग्रह किया है कि देश के किसी भी मेडिकल कॉलेज में दाखिला मिल जाय. ताकि इनकी पढ़ाई पूरी हो सके.

Catalyst IAS
ram janam hospital

प्रधानमंत्री को लिखें पत्र में मुख्यमंत्री ने कहा है कि इन छात्रों का दाखिला हो इसके लिए संबंधित मंत्रालय को आवश्यक दिशा-निर्देश जारी करें ताकि इनका भविष्य सुरक्षित हो सके.

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

बच्चों कि पढ़ाई को लेकर परिजन भी काफी चिंतित हैं. अभी तक इन बच्चों का भविष्य पर अनिश्चितता के बादल हैं. कारण कि यूक्रेन में जो हालात बने हुए हैं उससे स्पष्ट है कि फिलहाल वहां जाने पर अनिश्चितता बनी हुई है. जिसको लेकर परिजनों को भी मानसिक तौर पर परेशानी हो रही है.

मुख्यमंत्री ने पत्र के जरिये अपनी भावनाओं को व्यक्त किया है. उन्होंने कहा कि युद्ध में फंसे भारतीय छात्र यूक्रेन प्रभावित सकुशल घर वापस आने के बाद अब उन्हें एक अनिश्चित भविष्य नजर आ रहा है. फिलहाल यूक्रेन युद्ध के जल्द खत्म होने की कोई संभावना नहीं दिख रही है. इस प्रकार है उनके लिए अपनी पढ़ाई के लिए यूक्रेन लौटने की कोई उम्मीद नहीं है. आप शायद जानते होंगे कि भारत में उच्च शिक्षा प्राप्त करने वाले छात्रों की एक बड़ी संख्या है.

इसे भी पढ़ें : राज्य में जारी राजनीतिक घमासान के बीच मुख्यमंत्री की दो टूक, कहा- देश में संविधान है, कानून है इसके बाहर कोई नहीं जा सकता

Related Articles

Back to top button