JharkhandRanchi

#WestSinghbhum में 7 की हत्या पर बोले सीएम हेमंत सोरेन, SIT गठन कर तमाम पहलुओं की जांच करें अधिकारी

विज्ञापन
  • प्रोजेक्ट भवन में मुख्य सचिव, अपर मुख्य सचिव गृह, डीजी पुलिस तथा पुलिस विभाग के अन्य अधिकारियों के साथ मुख्यमंत्री ने की उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक
  • बोले- जनता के जानमाल की सुरक्षा से कोई समझौता नहीं करेगी सरकार

Ranchi : मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने पश्चिम सिंहभूम के बुरुगुलीकेला गांव में 7 ग्रामीणों की निर्मम हत्या की घटना पर प्रोजेक्ट भवन में मुख्य सचिव, अपर मुख्य सचिव गृह, डीजी पुलिस तथा पुलिस विभाग के अन्य अधिकारियों के साथ एक उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक की.

मुख्यमंत्री ने समीक्षा कर कहा कि यह सही है कि पुलिस हर जगह नहीं रह सकती है. लेकिन पुलिस की कार्यशैली ऐसी होनी चाहिए कि जनता का भरोसा उस पर बना रहे.

साथ ही अपराध करने वाले और कानून तोड़ने वालों में पुलिस की दहशत भी बनी रहे. मुख्यमंत्री ने कहा कि कानून सबसे उपर है और घटना के दोषियों को बख्शा नहीं जायेगा.

advt

इसे भी पढ़ें : #Jharkhand: ज्वाइनिंग के 7 महीने बाद भी नहीं मिल सका है नवनियुक्त प्राथमिक शिक्षकों को वेतन

घटना की जांच और दोषियों को चिन्हित करने के लिए एसआइटी गठन

मुख्यमंत्री ने कहा कि तय समय सीमा के अंदर घटना के सही कारणों को सामने लायें. उन्होंने पीड़ित परिवार से संपर्क कर परिजनों को अविलंब हरसम्भव सहायता करने का निर्देश दिया.

उन्होंने कहा कि घटना के वास्तविक कारणों के उद्भेदन करने और दोषियों को चिन्हित करने के लिए एसआइटी का गठन किया जाये.

जांच रिपोर्ट के बाद उसके बाद पीड़ित परिवार को तत्काल मदद दी जाये. मुख्यमंत्री ने कहा कि दोषी अधिकारियों के विरुद्ध भी कार्रवाई का निर्णय सरकार लेगी.

adv

इसे भी पढ़ें : #Palamu: दफ्तरी परिवेश से बाहर निकले उपायुक्त, ट्रेन में लगाया जनता दरबार

पुलिस सूचना तंत्र को प्रभावी बनाया जाये

हेमंत सोरेन ने यह स्पष्ट कहा कि भविष्य में पूरे राज्य में ऐसी घटना को रोकने के लिए पुलिस सूचना तंत्र को प्रभावी बनाया जाये.

ऐसी घटना दोबारा नहीं होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि पुलिस के जिला से थाना तक सभी पूरी तरह चौकस रहें.

सरकार जनता के जानमाल की सुरक्षा से कोई समझौता नहीं करेगी

मुख्यमंत्री ने बेहद सख्त लहजे में कहा कि थाना की स्थिति आज अच्छी नहीं है. साथ ही थाना प्रभारी अपने मुख्य लक्ष्य से भटक गये हैं.

उन्होंने डीजीपी से कहा कि पुलिस तंत्र को यह स्पष्ट कर दें कि सरकार जनता के जानमाल की सुरक्षा से कोई समझौता नहीं करेगी.

साथ ही, थाना स्तर पर व्याप्त कार्यशैली में सुधार लाने की दिशा में कार्रवाई सुनिश्चित करने का निर्देश दिया.

इसे भी पढ़ें : #Ranchi: सदर अस्पताल में दो साल बाद भी तैयार नहीं हो सका डायलिसिस सेंटर

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button