HazaribaghJharkhand

सीएम हेमंत सोरेन ने हजारीबाग में ब्लड कंपोनेंट सेपरेशन इकाई का किया वर्चुअल शिलान्यास

Hazaribagh : 14 जून विश्व रक्तदान दिवस के अवसर पर स्वास्थ्य शिक्षा एवं परिवार कल्याण मंत्रालय झारखंड सरकार द्वारा प्रायोजित एवं झारखंड राज ऐड्स कंट्रोल सोसायटी के सौजन्य से मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने हजारीबाग में स्थित ब्लड कंपोनेंट सेपरेशन इकाई का वर्चुअल शिलान्यास किया.

रांची में आयोजित मुख्य कार्यक्रम के माध्यम से हजारीबाग के लिए सदर अस्पताल के पुराने ओपीडी भवन में ब्लड कंपोनेंट सेपरेशन यूनिट का वर्चुअल शिलान्यास किया गया.

वर्चुअल कार्यक्रम के मौके पर पुराने ओपीडी भवन में उपायुक्त अदित्य कुमार आनन्द, उपविकास आयुक्त अभय कुमार सिन्हा, बरही अनुमण्डल अधिकारी डॉ कुमार ताराचंद, सिविल सर्जन डॉ संजय जायसवाल, मेडिकल कॉलेज के अधीक्षक डॉ विनोद कुमार,सचिव रेडक्रॉस सहित अन्य लोगों की उपस्थिति रहे.

ram janam hospital
Catalyst IAS

इसे भी पढ़ें :भारत में बच्चों को जल्द मिल सकती है कोरोना वैक्सीन, थर्ड स्टेज पर पहुंचा ट्रायल

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बताया कि हमारा संकल्प है कि हमारे राज्य में किसी की मौत खून की कमी से ना हो. इस दिशा में सरकार निरंतर काम कर रही है.

हजारीबाग में कोविड को देखते हुए सादे समारोह में उपायुक्त सह जिला दण्डाधिकारी आदित्य कुमार आनन्द ने 05 रक्तदाताओं को सांकेतिक रूप सेब्लड डोनेशन सर्टिफिकेट देकर सम्मानित किया.

इसे भी पढ़ें :शिल्पा शेट्टी के पति राजा कुंद्रा का चौंकानेवाला खुलासा, कहा, मेरे जीजा से था पहली पत्नी का अवैध संबंध

उपायुक्त ने सदर अस्पताल परिसर का किया निरीक्षण

सदर अस्पताल परिसर में आयोजित ब्लड कंपोनेंट सेपरेशन यूनिट के ऑनलाइन शिलान्यास कार्यक्रम के बाद उपायुक्त आदित्य कुमार आनन्द ने सदर अस्पताल के पुराने ओपीडी, नेत्र रोग विभाग आदि भवनों का निरीक्षण किया. निरीक्षण के दौरान कई स्थानों पर बारिश से पानी रिसाव, जलजमाव सहित बिजली, पानी, शौचालय की हकीकत से अवगत हुए.

निरीक्षण के क्रम में भवन निर्माण विभाग के अभियंता को फटकार लगाते हुए कहा किस मापदंड के तहत निर्माण किया जाता है कि भवनों की यह हालत हो जाती है.

निर्माण व मरमत कार्य में जो कमी है उसे तुरंत ठीक कराने का निर्देश उपायुक्त ने अभियंता को दिया.

इसे भी पढ़ें :पूर्व आइजी अरुण उरांव ने खड़ा किया रात्रि पाठशाला का आंदोलन, पढ़ रहे 25,000 बच्चे

Related Articles

Back to top button