NEWS

एसएचजी ग्रूप के बीच सीएम ने बांटे 51.50 लाख रूपये, कहा, ”युवतियों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सरकार प्रयासरत”

Ranchi : अपने तीसरे दिन के दुमका दौरे में सीएम हेमंत सोरेन ने कहा है कि गठबंधन राज्य के युवक-युवतियों को कौशल विकास का प्रशिक्षण देकर उन्हें अपने पैरों पर खड़ा करेगी. विशेषकर महिलाओं को स्वावलंबी और आत्मनिर्भर बनाने के लिए सरकार लगातार प्रयासरत है. सीएम सोरेन हरिहरपुर पंचायत भवन में स्वंय सहायता समूहों (एसएचजी) के सखी मंडल से जुड़ी महिलाओं को संबोधित कर रहे थे.

इस दौरान सीएम ने कोरोना महामारी के कारण बंद पड़े शगुन सुतम सिलाई सेंटर को पुन संचालित करने के कार्य का शुभारंभ किया. साथ ही कई योजनाओं से जुड़े कुल 11 लाभुकों के बीच 51.50 लाख की राशि का वितरण किया. यह राशि क्रेडिट लिंकेज के तहत दी गयी.

इस दौरान सीएम ने मुख्यमंत्री सुकन्या योजना, जेएसपीएलएस की क्रेडिट लिंकेज योजना, केसीसी लोन योजना के कुछ लाभुकों को सांकेतिक रुप से लाभ और प्रतीक के रुप में कुछ लाभुकों को नए राशन कार्ड भी दिए. कार्यक्रम में विधायक स्टीफन मरांडी, बसंत सोरेन, डीआईजी, डीसी सहित कई गणमान्य लोग उपस्थित थे. इस दौरान सीएम ने दुमका मेडिकल कॉलेज अस्पताल में 3 ऑपरेशन थिएटर औऱ अल्ट्रासाउंड मशीन और डीएमसीएच में कोविड 19 टेस्टिंग लैब का उद्घाटन किया.

इसे भी पढ़ें – हां, मैंने भी गांजा सेवन किया है !

 

Sanjeevani

600 महिलाओं को मिलेगा रोजगार

 सिलाई केंद्र के उद्घाटन करने के दौरान सीएम ने बताया कि फिलहाल केंद्र में 30 सिलाई मशीनें लगायी गयी हैं. इससे केंद्र में करीब 600 महिलाओं को रोजगार मिल सकेगा. इसके साथ की कई महिलाओं को यहां प्रशिक्षण भी मिलेगा. सीएम को बताया गया कि कोरोना से लड़ाई के लिए इस केंद्र से लगभग 80 हजार मास्क तैयार कर जिला प्रशासन को उपलब्ध कराया गया है. वहीं अभी यहां फिलहाल हजारों स्कूली विद्यार्थियों के लिए यूनिफॉर्म तैयार करने का काम चल रहा है. सिलाई केंद्र पहुंचे सीएम ने महिलाओं से भी बातचीत कर वास्तविक स्थिति की जानकारी ली.

इसे भी पढ़ेंः भीड़तंत्र का हिंसक चेहरा, अपराधी और उग्रवादी भी हो रहे शिकार

 

और भी सेंटरों को सहयोग करेगी सरकार

 मुख्यमंत्री ने कहा कि कौशल विकास के लिए संचालित होनेवाले और भी केंद्रों को सरकार पूरा सहयोग करेगी. सरकार ज्यादा से ज्यादा बच्चियों के कौशल को निखारने के लिए कृत संकल्पित है. सीएम ने कहा कि अगर आप में हुनर होगा तो किसी का मोहताज होने की जरूरत नहीं पड़ेगी. इसी सोच के साथ सरकार बच्चियों के कौशल विकास के साथ सखी मंडल से जुड़ी महिलाओं को विभिन्न माध्यमों से आत्मनिर्भर बनाने को प्रयासरत है.

 

ऑपरेशन थिएटर, अल्ट्रा साउंड मशीन और लैब का किया उद्घाटन

 

सीएम ने कहा कि दुमका मेडिकल कॉलेज अस्पताल वर्तमान में संथाल परगना प्रमंडल के वासियों के लिए मील का पत्थर साबित हो रहा है. दुमका मेडिकल कॉलेज अस्पताल के ओटी कॉम्लेक्स में तीन ऑपरेशन थिएटर और एक अल्ट्रा साउंड मशीन और डीएमसीएच में कोविड 19 टेस्टिंग लैब के उद्घाटन के दौरान सीएम ने कहा कि कोरोना महामारी के शुरूआती काल में झारखंड में कोविड-19 के नमूनों की जांच की कोई व्यवस्था नहीं थी. कोरोना जांच के लिए लोगों को पश्चिम बंगाल या दूसरे राज्यों का रूख करना पड़ता था.

लेकिन अब कम समय और सीमित संसाधनों के बीच सरकार के बेहतर प्रबंधन से आज यहां हर जिले में कोरोना जांच की सुविधा उपलब्ध है. सीएम ने कहा कि दुमका मेडिकल कॉलेज अस्पताल के निर्माण की प्रक्रिया जारी है, लेकिन इन सबके बीच यहां स्थापित कोविड-19 टेस्टिंग लैब में अबतक 13 हजार से ज्यादा कोरोना नमूनों की  जांच  हो चुकी है. इसके अलावा इस मेडिकल कॉलेज में 2019 के सेशन से एमबीबीएस की पढ़ाई भी शुरू हो चुकी है. नए बैच के लिए विद्यार्थियों के नामांकन की प्रक्रिया नवंबर से शुरू होने की संभावना है.

इसे भी पढ़ेंः JPSC और JSSC की परीक्षा आगे विवादित नहीं हो, इसे ध्यान में रख सरकार जल्द निकालेगी विज्ञापन : हेमंत सोरेन

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button