NationalTOP SLIDER

डॉलर तस्करी में आया केरल के सीएम और स्पीकर का नाम

New Delhi: केरल विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन, विधानसभा अध्यक्ष पी श्रीरामकृष्णन और कुछ मंत्रियों पर डॉलर तस्करी में शामिल होने का आरोप लगा है. यह आरोप जेल में बंद सोना तस्करी की मुख्य आरोपी स्वपना सुरेश ने लगाया है. स्वपना के मुताबिक डॉलर तस्करी मामले में सीएम, स्पीकर और कुछ मंत्रियों के अलावा यूएई के वाणिज्य दूतावास के कुछ कर्मचारी भी शामिल थे.

मामले की जांच कर रहे सीमा शुल्क विभाग ने केरल हाइकोर्ट में शुक्रवार को दाखिल किये गये हलफनामे में यह दावा किया है. मामले में स्पीकर रामकृष्णन को सीमा शुल्क विभाग से नोटिस जारी किये जाने की भी सूचना है. उन्हें 12 मार्च को जांच टीम के सामने उपस्थित होने को कहा गया है.

यह मामला तिरुअनंतपुरम में यूएई के वाणिज्य दूतावास के पूर्व वित्त प्रमुख द्वारा ओमान के मस्कट में 1.90 लाख डॉलर (लगभग 1.30 करोड़ रुपये) की कथित तस्करी से जुड़ा है. सोना तस्करी मामले में आरोपित स्वप्ना सुरेश और सह-आरोपित सरित पीएस कथित तौर पर डॉलर तस्करी मामले में भी शामिल थे और सीमा शुल्क विभाग उन्हें पहले ही गिरफ्तार कर चुका है.

‘विजयन के इशारे पर हुआ खेल’

स्वप्ना सुरेश ने आरोप लगाया है कि यूएई के पूर्व महावाणिज्य दूत से मुख्यमंत्री पी विजयन से बहुत करीबी संबंध थे और बयान दिया है कि अवैध लेनदेन हुई थी. हलफनामे में कहा गया है, ‘उसने स्पष्टता के साथ कहा है कि वाणिज्य दूतावास की मदद से मुख्यमंत्री और स्पीकर के इशारे पर विदेशी मुद्रा की तस्करी हुई.’

एलडीएफ ने केरल में सीमा शुल्क कार्यालयों तक प्रदर्शन मार्च निकाला

केरल में डॉलर तस्करी के सिलसिले में अपने शीर्ष नेताओं के खिलाफ सीमा शुल्क विभाग की जांच को लेकर भाजपा नीत केंद्र सरकार पर प्रहार करते हुए सत्तारूढ़ एलडीएफ ने शनिवार को राज्य में केंद्रीय एजेंसी के कार्यालयों की तरफ मार्च निकाला.

माकपा नीत गठबंधन द्वारा राजनीतिक रूप से निशाना बनाने का गंभीर संज्ञान लेते हुए सीमा शुल्क विभाग ने आरोप लगाया कि एक राजनीतिक दल जांच एजेंसी को धमकाने का प्रयास कर रहा है] लेकिन स्पष्ट किया कि इससे कुछ होने वाला नहीं है.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: