न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जेसोवा दिवाली मेला का हुआ समापन, स्टॉल धारकों में दिखी मिलीजुली प्रतिक्रिया

24

Ranchi: झारखंड आईएएस ऑफिसर्स वाईफ्स एसोसिएशन की ओर से आयोजित दिवाली मेला का समापन सोमवार को हुआ. चार दिवसीय मेले में राज्य समेत देश भर के 240 स्टॉल लगे थे. मेला के अंतिम दिन जेसोवा सदस्यों की ओर से हटिया और जगन्नाथपुर के राज्यकीयकृत विद्यालय में कक्षा एक ओर दो के विद्यार्थियों को मेला भ्रमण कराया गया. जेसोवा सचिव ऋचा संचिता ने बताया कि जगन्नाथपुर और हटिया विद्यालय में आस-पास के स्लम बस्तियों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों की जिम्मेवारी उठायी गयी है. इनमें से अधिकांष बच्चे ड्रॉप आउट या घर की आर्थिक स्थिति के कारण पढ़ नहीं पा रहे थे. इनकी सारी जिम्मेवारी जेसोवा की ओर से उठायी गयी है.

इसे भी पढ़ेंःदिवाली में 10 बजे रात के बाद पटाखा जलाया तो एक लाख रुपये का लगेगा जुर्माना 

स्टॉल धारकों में दिखी मिलीजुली प्रतिक्रिया

चार दिवसीय मेला के अंतिम दिन कुछ स्टॉल धारकों में खुशी तो कुछ में निराशा देखी गयी. कुछ स्टॉल धारकों ने बताया कि चार दिवसीय मेला में कुछ खास कमाई नहीं हुई. मेला में कम से कम दो रविवार आना चाहिये था. वहीं मेला का समय भी ऐसा था कि अधिकांश कामकाजी लोग शाम में ही काम निबटा कर आते थे, जबकि मेला नौ बजे खत्म हो जाता था, ऐसे में लोगों को खरीदारी का समय नहीं मिला, जिससे कुछ खास कारोबार नहीं हो सकी. वहीं अन्य स्टॉल धारकों ने बताया कि इस बार उनकी काफी अच्छी कमाई हुई है. आने वाले साल भी वो इस मेला में आना चाहेंगे.

इसे भी पढ़ेंःरांची के इलाहाबाद बैंक से संयुक्त निदेशक राजीव सिंह के भाई ने फरजी दस्तावेज पर लिया कर्ज

भजन संध्या और नृत्य

समापन समारोह के अंत में भजन संध्या और नागपुरी नृत्य पेश किये गये. इस दौरान भजन देवघर से आये अमरेश राज ने पेश किया. जिनके भजनों में लोगों को झूमते देखा गया. वहीं झारखंडी संस्कृति को प्रोत्साहन देने के लिये नागपुरी नृत्य का आयोजन किया गया. जिसे लोहरदगा से आयी नाजिया नाज की ओर से प्रस्तुत किया गया.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: