न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

नगर निकायों में चास को, एएलएफ में साहिबगंज व देवघर को मिलेगा स्वच्छता एक्सिलेंस अवार्ड

342

Ranchi: केन्द्र प्रायोजित योजनाओं के क्रियान्वयन में झारखंड के शहर इन दिनों लगातार परचम लहरा रहे हैं. इसी कड़ी में स्वच्छता एक्सिलेंस अवार्ड 2018-19 के लिए राज्य के चास नगर निगम और देवघर तथा साहेबगंज के एक-एक एरिया लेवेल फेडरेशन का चयन किया गया है. इन्हें यह अवार्ड 15 फरवरी को नई दिल्ली स्थित विज्ञान भवन में DAY-NULM ( दीनदयाल अंत्योदय योजना-ऱाष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन) को लेकर आयोजित होने वाले कार्य़शाला सह स्वच्छता एक्सिलेंस अवार्ड वितरण समारोह में दिया जाएगा.

यह अवार्ड एस्पिरेशनल डिस्ट्रिक्ट की श्रेणी में दिया जाएगा. केंद्र सरकार के आवासन व शहरी कार्यमंत्री के तरफ से यह अवार्ड वितरित होगा. चास को यह अवार्ड यहां महिला स्वयं सहायता समूह द्वारा कचरा सेग्रिगेशन से लेकर ,पेपर बैग के निर्माण और कंपोस्टिंग का कार्य वैज्ञानिक तरीके से करने के एवज में दिया जा रहा है. गत वर्ष दिसंबर माह में क्वालिटी काउंसिल ऑफ इंडिया ने इस कार्य का एक सर्वे किया था.

101 शहर एस्पिरेशनल डिस्ट्रिक्ट की सूची में शामिल

मालूम हो कि नीति आयोग के निर्देश पर देश के पिछड़े 101 शहरों को एस्पिरेशनल डिस्ट्रिक्ट की सूची में शामिल किया गया है. इसमें बोकारो ज़िला भी है. बोकारो जिला के अंतर्गत ही चास नगर निगम आता है. केंद्र सरकार के ओर से प्राप्त पत्र के मुताबिक देश के कई एस्पिरेशनल डिस्ट्रिक्ट से स्वच्छता के लक्ष्य को प्राप्त करने को लेकर प्रस्ताव आए थे. जिसमें बोकारो के चास को सम्मानित करने के लिए चयनित किया गया है.

‘अभियान’ और ‘प्रज्ञा वाहिनी आजीविका’ भी होंगे सम्मानित

इसी समारोह में एरिया लेवेल फेडरेशन की श्रेणी में देवघर के एरिया लेवल फेडरेशन ‘अभियान’ और साहिबगंज के एएलएफ ‘प्रज्ञा वाहिनी आजीविका’ को भी सम्मानित किया जाएगा. करीब दस सखी मंडलों को मिलाकर एक एएलएफ का गठन होता है. इन दोनों एएलएफ के सदस्यों ने टॉयलेट निर्माण से लेकर लोगों को खुले में शौच नहीं करने, शौचालय का इस्तेमाल करने और अन्य पहलुओं को लेकर जागरुक किया था. विभागीय सचिव अजय कुमार सिंह, नगरीय प्रशासन निदेशालय के निदेशक आशीष सिंहमार व सूडा के निदेशक अमीत कुमार ने तीनों चास यूएलबी के कर्मियों और साहेबगंज तथा देवघर के दोनों एएलएफ के सदस्यों को बधाई दी है.

इसे भी पढ़ेंः राजस्व और इंजीनियर की कमी से जूझ रहा RRDA, योजनाओं की प्लानिंग व मॉनिटरिंग प्रभावित

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: