JharkhandRanchi

आश्वासन के बाद भी वेतन नहीं मिलने पर सफाईकर्मी फिर गये हड़ताल पर

Ranchi: रांची नगर निगम के 6 एमटीएस (हरमू, नागाबाबा, खेलगांव, मधुकम, कर्बला चौक और  कांटाटोली) में कार्यरत सफाईकर्मी वेतन, पीएफ सुविधा नहीं मिलने से बुधवार से फिर हड़ताल पर चले गये हैं. मंगलवार शाम को इन कर्मियों को बुधवार तक वेतन मिलने का आश्वासन दिया गया था. जब बुधवार दोपहर तक उन्हें वेतन नहीं मिला, तो इन 6 एमटीएस में कार्यरत सफाई कर्मी एक बार फिर हड़ताल पर चले गए. इसका असर शहर की साफ-सफाई में भी देखने को मिला. शहर के विभिन्न चौक-चौराहों से लेकर मोहल्लों में कचरे का अंबार लगने की शिकायत मिलने लगी. एमटीएस सफाई कर्मियों का कहना है कि इन एमटीएस में कार्यरत ड्राइवर, सफाई कर्मी, हेल्पर, रेजा, कुली को वेतन देने का आश्वास दिया गया था. लेकिन बुधवार दोपहर 12 बजे तक उन्हें वेतन नहीं मिला है. ऐसे में एक बार फिर हड़ताल पर जाने के सिवाए उनके पास कोई रास्ता नहीं बचा है. सफाई कर्मियों ने बताया कि कंपनी द्वारा 9 से 10 घंटे रोजाना काम लिया जाता है. लेकिन इसके एवज में जितनी रकम बोली गयी उतना भी समय पर नही मिल पाता हैं. हमे पीएफ, ईएसआई जैसी सुविधा से भी वचिंत रखा गया है. जबकि रोजाना हम गंदगी में काम करते हैं और धीरे-धीरे बीमारी के करीब जा रहे हैं. इतना ही नही वेतन नही मिलने के कारण घर चलना मुश्किल हो चला है. अब तो उन्हें लोग उधारी तक देना बंद कर चुके हैं.

Jharkhand Rai

सभी एमटीएस में पसरा रहा सन्नाटा 

वहीं दोपहर बाद मोरहाबादी, नागाबाबा खटाल, हरमू, खेलगांव, कर्बला, कांटाटोली के एमटीएस में सफाई कर्मियों के हड़ताल पर चले जाने के बाद सभी एमटीएस में सन्नाटा पसरा मिला. कुछ एमटीएस में सफाई कर्मी तो मिले पर काम ठप मिला. वही सफाई कर्मियों ने कहा कि जबतक वेतन नही मिल जाता तबतक काम पर वापस नही लौटेंगे.

 क्या कहते हैं सफाईकर्मी 

कांटाटोली एमटीएस में कार्यरत कर्मी महेश शर्मा का कहना है कि बुधवार को फस्ट हाफ में वेतन मिलने का आश्वासन दिया गया था. लेकिन दोहपर हो गये फिर भी वेतन नही मिल सका. मजबूरन हड़ताल पर सभी एमटीएस में कार्यरत कर्मी हड़ताल पर चले गये. वही ओमकार यादव ने बताया कि सफाई कार्य करने के एवज में उन्हें 5200 रुपये वेतन मिलते हैं. अगर यह भी समय पर नही मिलेगा तो हम कैसे अपना और अपने परिवार को पालन-पोषण करेंगे. प्रत्येक माह वेतन देने में कंपनी द्वारा देरी होती हैं.

गुरुवार को वेतन मिलने का आश्वासन 

वेतन नहीं मिलने के सवाल पर रांची नगर निगम के अपर नगर आयुक्त गिरिजा शंकर प्रसाद का कहना है कि कर्मियों को बुधवार को वेतन देने का निर्देश दिया गया था. अगर वेतन नही दिया गया हैं तो गलत हुआ हैं. गुरुवार तक वेतन किसी भी हाल में वेतन दे दिया जाएगा.

Samford

इसे भी पढेंः मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के खिलाफ बिहार की अदालत में परिवाद पत्र दायर

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: