न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

स्वच्छ सर्वेक्षण 2019 : बदहाल सफाई व्यवस्था के बीच राज्य के पांच शहरों का हुआ चयन

65
  • रांची सहित फुसरो, गुमला, चतरा और चक्रधरपुर का हुआ है चयन
  • छह मार्च को दिल्ली में मिलेगा अवार्ड
  • कार्यक्रम में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद रहेंगे उपस्थित

Ranchi : राजधानी में सफाई व्यवस्था के ठप होने की स्थिति के बीच रांची समेत राज्य के पांच शहरों का चयन स्वच्छ सर्वेक्षण 2019 के लिए किया गया है. इनका चयन सर्वेक्षण की विभिन्न कैटेगरी में अव्वल शहरों की सूची में हुआ है. इस सूची में रांची, फुसरो, गुमला, चतरा और चक्रधरपुर शामिल हैं. यह चयन शहरों की साफ-सफाई, सॉलि़ड वेस्ट मैनेजमेंट,  शहरों को खुले में शौच से मुक्त करने, डोर टू डोर कचरा का उठाव सुनिश्चित करने, सॉलि़ड और लिक्विड कचरा के सेग्रीगेशन एवं डिस्पोजल और लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करने के लिए हुआ है. यह आवार्ड छह मार्च को दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित कार्यक्रम में दिया जायेगा. कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, शहरी कार्य मंत्रालय के सचिव दुर्गा शंकर मिश्र मौजूद रहेंगे.

चार से 31 जनवरी तक चला था मिशन

मालूम हो कि चार जनवरी से 31 जनवरी 2019 तक चले स्वच्छ सर्वेक्षण 2019 में देश के 4237 नगर निकायों ने भाग लिया था. इसमें राज्य के कुल 42 नगर निकाय शामिल थे. प्रतियोगिता में 64 लाख लोगों का फीडबैक लिया गया है. साथ ही सोशल मीडिया के माध्यम से भी चार करोड़ लोगों ने अपने-अपने शहरों की स्वच्छता की स्थिति और उसमें हो रहे सुधार को लेकर गुप्त फीडबैक दिया. हालांकि, सर्वेक्षण 2019 में राज्य के किन शहरों को किस-किस कैटेगरी में अवार्ड के लिए चयन हुआ है, इसकी जानकारी छह मार्च के कार्यक्रम में ही दी जायेगी.

मंत्री सहित अधिकारियों ने दी बधाई

स्वच्छता के क्षेत्र में मिली सफलता पर नगर विकास मंत्री सीपी सिंह, विभागीय सचिव अजय कुमार सिंह और स्वच्छ भारत मिशन के निदेशक अमित कुमार ने पूरी टीम को बधाई दी है. मंत्री सीपी सिंह ने कहा कि विभागीय अधिकारियों और जनता की सजगता का ही नतीजा है कि राज्य एक बार फिर सर्वेक्षण में आगे रहा है.

इसे भी पढ़ें- एस्सेल इंफ्रा चोर है, उसका एक भी आदमी सही नहीं है : आशा लकड़ा

इसे भी पढ़ें- जरूरत पड़ी तो अल्पसंख्यक को बनायेंगे मुख्यमंत्री: आम आदमी पार्टी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: