न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

दावा : हुसैनाबाद विधायक और सीओ के बीच तू-तू मैं-मैं का ऑडियो वायरल, विधायक ने सीओ को कहा- मैं सरकार, तू नौकर

96

Palamu : शनिवार की शाम को हुसैनाबाद में एक ऑडियो क्लिप खूब वायरल हुआ. दावा किया जा रहा है कि यह हुसैनाबाद से बसपा विधायक कुशवाहा शिवपूजन मेहता और अंचल पदाधिकारी (सीओ) विपिन दुबे के बीच शुक्रवार को फोन पर हुए वाकयुद्ध का ऑडियो क्लिप है. दावे के मुताबिक, विधायक कुशवाहा शिवपूजन मेहता और अंचल पदाधिकारी विपिन दुबे के बीच शुक्रवार को फोन पर जमकर तू-तू मैं-मैं हुई. दावा यह भी किया जा रहा है कि मोबाइल पर हो रहे एक शासक और प्रशासक के बीच तू-तू मैं-मैं के गवाह बने क्षेत्र के बीएलओ. शनिवार की शाम गर्मागर्मी, धमकी का यह ऑडियो क्लिब खूब वायरल हुआ. कहा जा रहा है कि इस ऑडियो क्लिप में विधायक और सीओ एक-दूसरे को तुम-ताम करते सुनाई पड़ रहे हैं और एक-दूसरे को अपनी शक्ति दिखाने की धमकी भी देते सुनाई दे रहे हैं.

ढाई मिनट का है ऑडियो

दावे के मुताबिक, करीब 2.35 मिनट के इस ऑडियो में विधायक और सीओ के बीच तीखी नोकझोंक हुई है. इसमें कथित रूप से सीओ ने विधायक के तुम करके बात करने पर आपत्ति जाहिर की है, जबकि विधायक ने सीओ को जनता का नौकर बताते हुए हद में रहने को कहा है. कहा गया कि वह इस इलाके के सरकार हैं और अंचलाधिकारी नौकर. दावा किया जा रहा है कि जिस समय यह वाकयुद्ध चल रहा था, उस समय मतदाता पुनरीक्षण की बैठक हो रही थी. कहा जा रहा है कि बड़बोलेपन के लिए कुशवाहा शिवपूजन मेहता पूरे राज्य में चर्चित रहे हैं.

सुनिये वह ऑडियो क्लिप

सीओ ने प्राथमिकी के लिए दिया है आवेदन

विधायक कुशवाहा शिवपूजन मेहता के खिलाफ हुसैनाबाद के अंचलाधिकारी विपिन कुमार दुबे ने प्राथमिकी दर्ज करने के लिए हुसैनाबाद थाना में आवेदन दिया है. आवेदन स्वीकार कर लिया गया है, लेकिन प्राथमिकी दर्ज नहीं की गयी है. हुसैनाबाद के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी मनोज कुमार महतो ने बताया कि विधायक और सीओ के बीच हुई तकरार के मामले की पहले जांच की जायेगी, इसके बाद प्राथमिकी दर्ज होगी.

सीओ का क्या है आरोप

सीओ ने प्राथमिकी में विधायक पर अभद्र भाषा का प्रयोग करने, सरकारी कार्य में बाधा डालने और धमकी देने का आरोप लगया गया है. सीओ ने लिखा है कि स्थानीय विधायक ने शुक्रवार की दोपहर के समय अपने मोबाइल से फोन कर अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुए सरकारी कार्य में बाधा डाली तथा न्यायिक कार्य अतिक्रमण के मामले दखल दी है. सीओ का कहना है कि न्यायिक कार्य में धमकी भरा निर्देश देना व अभद्र भाषा का प्रयोग करना एक विधायक की मर्यादा के प्रतिकूल है.

अतिक्रमण मामले से जुड़ा है मामला

ऑडियो के अनुसार मामला किसी श्मसान घाट की जमीन के अतिक्रमण से जुड़ा हुआ है. अंचलाधिकारी के अनुसार, पचमो गांव में श्मशान की भूमि पर लगातार अतिक्रमण किया जा रहा है. कई बार भूमि को अतिक्रमणमुक्त किया गया, लेकिन बार-बार ग्रामीणों द्वारा अतिक्रमण किया जा रहा है. भूमि पर की गयी घेराबंदी भी हटा दी जा रही है. इसी मामले में विधायक का फोन आया और धमकी दी गयी.

एकतरफा कार्रवाई करने का आरोप

बता दें कि पचमो में 14 लोगों को अतिक्रमण करने पर चिह्नित किया गया है. श्मशान घाट के अतिक्रमण को लेकर सीओ ने दो लोगों पर कार्रवाई की है. इस मामले में विधायक ने एकतरफा कार्रवाई करने का आरोप लगाया है, इसी को लेकर दोनों के बीच फोन पर विवाद होने की बात कही जा रही है.

इसे भी पढ़ें- चुनावी बॉन्ड की घोषणा के बाद क्षेत्रीय पार्टियों ने कहा- भाजपा नहीं चाहती क्षेत्रीय पार्टियां बढ़ें

इसे भी पढ़ें- एक-एक बच्चा जानता है विधायक ढुल्लू रंगदारी वसूली करवाते हैः बीएन सिंह

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: