न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

इंजीनियरिंग और मैनेजमेंट के छात्रों को नगर विकास विभाग देगा इंटर्नशिप का मौका

udhd.jharkhand.gov.in पर मिलेगी अतिरिक्त जानकारी

98
  •  3 जनवरी से मांगा गया है आवेदन,  20 फरवरी अंतिम तिथि 
  • 2 माह, 1 माह और 15 दिन के प्रशिक्षण में मिलेगी छात्रवृत्ति

Ranchi:  शहरीकरण, आवास निर्माण, स्वच्छता, मास्टर प्लान, शहरी यातायात प्रबंधन इत्यादि में रूचि रखनेवाले छात्रों के लिए नगर विकास विभाग इंटर्नशीप प्रोग्राम का मौका देगा. यह प्रोग्राम गर्मी माह में प्रस्तावित है. इंटर्नशिप के इच्छुक इंजीनियरिंग एवं मैनेजमेंट के छात्रों के विभाग द्वारा ऑनलाइन आवेदन जमा करने की प्रक्रिया जारी है. इंटर्नशिप की अधिक जानकारी विभाग के साइट udhd.jharkhand.gov.in पर उपलब्ध है. जिन शहरों में केंद्र की महत्वाकांक्षी अमृत योजना (अटल नवीकरण और शहरी परिवर्तन मिशन) संचालित है, वहां पर ऐसे इंटर्नशिप प्रोग्राम चलाने की अनिवार्यता है. इस प्रोग्राम की शुरूआत विभाग ने वर्ष 2016 में की थी. प्रोग्राम से प्रति वर्ष कई छात्रों को लाभ मिल रहा है. खासकर झारखंड के वैसे छात्र जो उच्च शिक्षा के लिए देश के अन्य बड़े शहरों में पढ़ाई कर रहे हैं. ऐसे छात्रों को छुट्टियों में भी घर बैठे इंटर्नशिप प्रोग्राम का लाभ मिलता है.

सचिवालय सहित कई स्थानों पर मिलेगी इंटर्नशिप 

विभागीय सचिव अजय कुमार के मुताबिक इंटर्नशिप प्रोग्राम करने के इच्छुक छात्रों को सचिवालय स्थित ऑफिस व अन्य स्थानों पर प्रशिक्षण दिया जायेगा. ऐसे स्थानों में स्टेट अर्बन डेवलपमेंट एजेंसी, नगरीय प्रशासन निदेशालय, जुडको, रांची नगर निगम, धनबाद नगर निगम, हजारीबाग, देवघर, चास नगर निगम और जमशेदपुर अधिसूचित क्षेत्र शामिल हैं. छात्रों से गत 3 जनवरी से आवेदन लेने की प्रक्रिया शुरू हो गयी है, जो कि 20 फरवरी तक चलेगी. आवेदन देने वाले छात्रों को पहले आओ और पहले पाओ की तर्ज पर भी प्राथमिकता देने की बात कही गयी है. हालांकि किस संस्थान में कितने छात्र आते हैं, इसपर भी बहुत कुछ निर्भर करता है. उन्होंने बताया कि इंटर्नशिप के लिए कुल 42 सीट उपलब्ध हैं. कॉलेज की छुट्टियों के मुताबिक आगामी अप्रैल से अगस्त के बीच इस प्रोग्राम को चलाया जायेगा.

SMILE

प्रशिक्षण के एवज में विभाग देगा स्टाइपेन 

प्रोग्राम के तहत छात्रों को 2 माह, 1 माह और 15 दिन के प्रशिक्षण की योजना है. जिसके एवज में क्रमशः 10000-15000 हजार, 5000-7500 हजार और 2500-3750 रुपये छात्रवृत्ति के रूप में विभाग द्वारा दिया जायेगा. इसमें संबंधित क्षेत्र के स्नातक एवं स्नातकोत्तर के छात्र भाग ले सकते हैं. इस इंटर्नशिप प्रोग्राम में मुख्य रूप से इंजीनियरिंग और प्रबंधन के छात्र होंगे. इन्हें जिन क्षेत्रों में जानकारी दी जायेगा, उसमें अर्बन प्लानिंग, सिटी सैनिटेशन, जीआईएस मास्टर प्लान विकसित करना, अर्बन ट्रांसपोर्ट, वर्ल्ड बैंक प्रोजेक्ट्स, कंप्रेसेन्सिव डेवलपमेंट प्रोग्राम, अमृत योजना, स्वच्छ भारत मिशन शामिल है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: