न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सिटी बस टेंडर : नौंवी बार निकाला गया टेंडर, ऑपरेटर को 5 साल का अनुभव अनिवार्य

टेंडर कुल 91 बसों के लिए निकाला गया है.

80

Ranchi : सिटी बस सेवा परिचालन में आ रही दिक्कतों से निजात पाने के लिए रांची नगर निगम की ओर से लगातार नौवीं बार टेंडर निकाला गया है. यह टेंडर कुल 91 बसों के लिए निकाला गया है. इन बसों में 65 सफेद और 26 लाल बसें शामिल हैं. टेंडर में भाग लेने वाले बस ऑपरेटरों से निगम ने 24 जनवरी (गुरूवार से) रिकवेस्ट फॉर प्रपोजल मांगा है. जो आरएफपी निगम के ऑफिशियल वेबसाइट पर उपलब्ध है. जबकि टेंडर में भाग लेने वाले ऑपरेटरों के लिए निगम प्रशासन ने कई शर्तें भी निर्धारित की है. जिसमें मुख्य रूप से यह है कि ऑपरेटरों के पास 5 साल का बस चलाने का अनुभव होना चाहिए.

50 लाख टर्नओवर ऑपरेटर ले सकते हैं भाग

टेंडर के मुताबिक, निगम द्वारा निकाले गये टेंडर को वैसे ही लोग भाग ले सकते हैं, जिनके पास कम से कम पांच बसें हों. साथ ही इन ऑपरेटरों का पिछले 3 साल में टर्नओवर करीब 50 लाख कम से कम रहा हो. इसके अलावा बस परिचालन का कम से कम पांच साल का अनुभव रहा हो. बस परिचालन करने के इच्छुक लोगों से 11 फरवरी तक आवेदन मांगा गया है.

ऑपरेटरों से परेशान निर्धारित हुआ बस भाड़ा

सिटी बस सेवा का परिचालन देख रहे अधिकारी ने बताया कि बस भाड़ा बढ़ाने को लेकर सिटी बस ऑपरेटर लगातार निगम प्रशासन पर दबाव बनाते रहे हैं. इससे निगम कई बार दबाव में बस का परिचालन करता रहा है. जिससे निगम ने इस बार के टेंडर में बस का किराया पहले से ही निर्धारित कर दिया है और यह किराया भी दूरी के हिसाब से निर्धारित है. मालूम हो कि जिन बसों के परिचालन के लिए नगर निगम ने नौवीं बार टेंडर निकाला है. उसमें करीब 65 बस पिछले एकसाल से बकरी बाजार स्टोर, सरकारी बस स्टैंड व शहर के अन्य जगहों पर खड़ी हैं. हाल में इन्हीं बसों में से 3 को कुछ आसामजिक तत्वों ने जला दिया था. वहीं शहर में चल रहे 26 बसों का परिचालन ऑपरेटर किशोर मंत्री कर रहे थे. किशोर मंत्री लगातार बस भाड़ा बढ़ाने के लिए निगम पर दबाव बनाते रहे हैं. इसे देखकर ही निगम ने एकबार फिर से टेंडर निकाला है.

भाड़ा                           किमी

5 रूपये                         0-5 किमी

Related Posts

बोकारो : तीन साल में बनना था ढाई किलोमीटर का ओवरब्रिज, साढ़े चार साल में भी अधूरा

डीवीसी बोकारो थर्मल की विलंब से पूरी होनेवाले प्रोजेक्ट (किस्त- 01) : 134 करोड़ का है ओवरब्रिज प्रोजेक्ट

SMILE

10 रूपये                        6 से 12 किमी

15 रूपये                        12 से 20 किमी

20 रूपये                        20 किमी या उससे ज्यादा

इसे भी पढ़ें – जेपीएससी मुख्य परीक्षा टलने के आसार कम, स्थगित कराने को लेकर प्रयासरत परीक्षार्थी

इसे भी पढ़ें – बायोडायवर्सिटी बोर्ड की अनोखी पहलः 3400 पंचायतों में जैव विविधता प्रबंध समिति गठित

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: