Main SliderNational

दंगल #twitter काः जानिये लोग क्यों कह रहे हैं, #पुरुष_आयोग_का_गठन और #इटालियन_परिवार_तिजोरी_खोलो

NewsWing Desk : #twitter पर लोगों कब क्या मांग करने लगेंगे, इसका अनुमान लगाना मुश्किल है. 13 मई को दिन के 2.00 बजे ट्विटर पर दो मांगे की जा रही है, यानी ट्रेंड कर रहा है. पहले नंबर पर जो ट्रेंड कर रहा है, वह है #इटालियन_परिवार_तिजोरी_खोलो. इसमें लोग कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को निशाना बना रहे हैं. दूसरे नंबर पर ट्रेंड कर रहा है पुरुष_आयोग_का_गठन.

Jharkhand Rai

अब भला इस कोरोना काल में पुरुष आयोग की क्या जरुरत पड़ने लगी. तो आईये पहले हम जानते हैं कि #twitter पर सोनिया गांधी किसलिए निशाने पर हैं. इसके लिए आप कुछ चुनिंदा ट्विट को पढ़िये, फिर समझ में आ जायेगा कि मामला क्या है. दरअसल लोग कह रहे हैं कि सोनिया गांधी के पास बहुत संपत्ति है. इसलिये कोरोना काल में वह उन संपत्तियों का इस्तेमाल लोगों की भलाई में करें.

सचिन दुबे नाम के युवक ने यूपीए सरकार के समय हुए कथित घोटाले की तस्वीर साझा करके मांग कर रहे हैं कि इटालियन परिवार तिजोरी खोलो. अब इन्हें कौन समझाये कि जो घोटाला हुआ ही नहीं, उसके रुपये कहां से वापस आयेंगे.

शिवम पाधेय लिखते हैं. वह संतुष्ट नहीं हैं. इस परिवार ने भारत को लूटा है. उन्हें अपनी तिजारी खोलनी चाहिये.


ऋषिकेष नाम के युवक ने एक मीम्स साझा करके राहुल गांधी की तूलना छोटा भीम से कर दी है.

अब आते हैं, दूसरे दिलचस्प ट्रेंड पर. वह है #पुरुष_आयोग_का_गठन. दिन के 2.30 बजे तक 92 हजार से अधिक लोग इस हैशटैग का इस्तेमाल करके ट्विट कर चुके हैं. पुरुषों का कहना है कि महिलाएं हमेशा अपराध करके बच जाती हैं. इसलिये पुरुष आयोग का गठन किया जाये.
दरअसल, इस ट्रेंड की शुरुआत उस खबर के बाद की गयी है, जिसमें यह बताया गया है कि पिछले दिनों दिल्ली में हुए #BoysLockerRoom कांड में एक लड़की भी शामिल थी. (बॉयज लॉकर रुम मामले की खबरें पढ़ने के लिये क्लिक करें)

(बॉयज लॉकर रुम के बारे में जानने के लिए यहां भी क्लिक करें )

निर्मल पाठक नाम के यूजर ने लिखा हैः वह अपनी पीड़ा बताते हुए कहते हैं कि एक युवती की वजह से वह कैसे परेशान हुए हैं. इसलिए पुरुष आयोग का गठन किया जाये.


सर्वेश नामक युवक लिखते हैः आंकड़े बताते हैं कि हर 8 मिनट पर एक पुरुष आत्महत्या करता है. इसलिए महिला आयोग की तरह ही पुरुष आयोग का भी गठन किया जाये. उन्होंने एक खबर का स्क्रिन शॉट भी टैग किया है.


कुमार विक्रम सिंह नामक युवक लिखते हैं कि जेंडर समानता और फर्जी मामलों को रोकने के लिये कानून की जरुरत है. उन्होंने तसीवर के जरिये बताया है कि कैसे कानून में पुरुषों को कोई अधिकार नहीं है. जबकि महिलाओं को ढ़ेंर सारी.

ऐसा नहीं है कि इस ट्विटर मूवमेंट को सिर्फ पुरुष ही सपोर्ट कर रहे हैं, कुछ महिलाएं भी सपोर्ट कर रही हैं. उनमें से एक हैं गुंजा यादव. उन्होंने लिखा है जेंडर समानता के लिए कानून की जरुरत है. हमारा समाज पुरुषों की सुरक्षा पर खतरे को स्वीकार नहीं कर सकता.

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: