न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राष्ट्रीय स्वर्णकार महासंघ के महासम्मेलन में स्वर्णकारों की सत्‍ता में भागीदारी पर मंथन

930

Ranchi  :  राष्ट्रीय स्वर्णकार महासंघ के महासम्मेलन का आयेाजन रविवार को विधानसभा, सभागार रांची में   किया गया. कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि नगर विकास मंत्री सी पी सिंह ने दीप प्रज्वलित कर किया.      इस अवसर पर मुख्य अतिथि ने अमिता प्रसाद को अध्यक्ष बनने के लिए बधाई दी एवं कहा कि सभी समाज को स्वर्णकार समाज की आवश्यकता पड़ती है,  इसलिए स्वर्णकार महान होते हैं. इस क्रम में पूर्व केंद्रीय मंत्री   सुबोध कांत सहाय ने राष्ट्रीय स्वर्णकार महासंघ में एक महिला को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाये जाने की सराहना करते हुए कहा कि स्वर्णकार समाज के लोग भी विधायक बनें ऐसी मेरी कामना है. आरएसएमएस  के संरक्षक जनार्दन बर्मन ने कहा कि पहली बार एक महिला ने राष्ट्रीय स्तर पर राष्ट्र के सारे स्वर्णकारों को एकत्रित कर महासंघ बनाया,  यह महिला सशक्तिकरण पहला उदाहरण है. कहा कि स्वर्णकार सत्ता में जरूर भागीदारी लें,  ताकि संसद में हमारा भी प्रतिनिधि हो और वे हमारा दुख दर्द समझें और सुरक्षा करें. महासम्मेलन में आरएसएमएस के सलाहकार एवं पूर्व विधायक लक्ष्मण स्वर्णकार ने कहा कि आज समाज की कुरीतियों को दूर करना जरूरी है, चाहे दहेज प्रथा हो या महिलाओं के साथ अत्याचार,  उत्पीड़न हो.  इसके विरुद्ध वातावरण बनाना ही होगा.  कहा क स्वर्णकारों को कामगार के सूची में डालकर सहयोग करना होगा.  स्वर्णकार कलाकार है,  ये कला कुटीर उद्योग है.  महासम्मेलन में  सरकार से मांग की गयी कि अकारण स्वर्णकारों की दुकान में छापामारी न की जाये. दुकानदारों की सुरक्षा दी जाये. आये दिन स्वर्णकारों की दुकानों में लूट की घटनाएं होती रहती हैं, इसलिए सरकार सुरक्षा प्रदान करे.

स्वर्णकारों को संगठित करना, दहेज प्रथा को बंद कराने का प्रयास होगा : अमिता प्रसाद

सभा को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष अमिता प्रसाद ने एकजुटता तथा नारी सशक्तिकरण पर बल दिया और कहा कि मुझे जिस उम्मीद से राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया गया है,  उस उम्मीद को  मैं पूरा करूंगी. कहा कि पूरे देश के स्वर्णकारों को संगठित करना और दहेज प्रथा का विरोध कर दहेज प्रथा को बंद कराना उनका प्रयास रहेगा. उन्होंने महासम्मेलन में पारिवारिक समन्वय तथा गृह शांति हेतु कुछ टिप्स दिये,  जिसे ध्वनि मत से सराहा गया. सभा का संचालन आरएसएमएस  झारखंड प्रदेश   अध्यक्ष राजेश स्वर्णकार ने किया. कार्यक्रम में लगभग 100 पदाधिकारियों को प्रमाण पत्र प्रदान किये गये. संस्था द्वारा निशुल्क आर्टिजन कार्ड हेतु फार्म भरवाया गया एवं विवाहित सामान्य हेतु विवाहित बायोडाटा फार्म भरवाया गया. सम्मेलन में दिल्ली, महाराष्ट्र, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, बिहार, बंगाल, झारखंड, आदि से प्रतिनिधिगणों ने भाग लिया. इस अवसर पर संरक्षक जनार्दन बर्मन, स्वामी सचिदानंद सुनील बर्मन, पूर्व विधायक लक्ष्मण बर्मन, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिव कुमार प्रसाद, सचिव  उत्तम वर्मा, एवं रांची जिला अध्यक्ष दिनेश सोनी, धनबाद जिला के पंकज स्वर्णकार तथा चक्रधरपुर के आशुतोष बर्मन उपस्थित थे.  

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: