JharkhandRanchi

क्रिसमस की तैयारी पूरी,  आज रात बारह बजे खुशियां बांटने आयेंगे यीशु

विज्ञापन

Ranchi: क्रिसमस को लेकर लेकर हर ओर चहल पहल देखी जा रही है. राजधानी के बाजार से लेकर चर्च तक में इसकी उमंग है. रात बारह बजे यीशु का जन्म होगा. इसके लिए गिरजाघरों में मिस्सा प्रार्थना शुरू हो गयी है. यह सोमवार को विभिन्न पालियों तक चलेगी. राजधानी के गिरजाघरों में दोपहर दो बजे के बाद से ही मिस्सा शुरू हो गयी. विशेष मिस्सा रात्रि 10.30 बजे से शुरू होगी. शहर के अलग- अलग गिरजाघरों में अलग-अलग समय पर मिस्सा का आयोजन होगा. मिस्सा प्रार्थना का आयोजन संत पॉल महागिरजाघर में रात्रि 11.30 बजे से, संत मारिया गिरजाघर में 10.30 से, जीइएल गिरजाघर में रात्रि 11 बजे से होगा. शहर के अन्य गिरजाघरों में भी दोपहर दो बजे के बाद से प्रार्थना शुरू हो गयी.

विद्युत सज्जा से जगमगा रहे गिरजाघर

क्रिसमस को लेकर राजधानी के गिरजाघर सज कर तैयार हैं. संत पॉल्स कैथेड्रल, संत मारिया महागिरजाघर, जीइएल गिरजाघर में आकर्षक विद्युत सज्जा देखी जा रही है. चरनी,  फूलों, विद्युत और कैंडल के साथ गिरजाघर और भी आकर्षक लग रहे हैं.

25 दिसंबर होगी दिनभर प्रार्थना

25 दिसंबर को दिनभर गिरजाघरों में प्रार्थनाएं होंगी. संत मारिया गिरजाघर में तीन पालियों में प्रार्थना होगी. जिसकी अगुवाई बिशप फेलिक्स टोप्पो करेंगे. प्रार्थना सुबह 6.30, 8.30, 9.30 बजे होगी. जीइएल चर्च में 25 को पहली की प्रार्थना 6.30 बजे होगी. दूसरी प्रार्थना 10 बजे की जायेगी. जिसकी अगुवाई बिशप जॉनसन लकड़ा करेंगे. संत पॉल्स कैथेड्रल में 6.15, और 10.45 में प्रार्थना की जायेगी.

खूब बिके क्रिसमस ट्री और सांता

राजधानी में जगह-जगह क्रिसमस बाजार लगे हैं. दुकानदारों ने बताया कि विशेष मांग क्रिसमस ट्री की हुई, जिसे लोगों ने खूब खरीदा. इसके साथ ही सांता क्लाउज, स्टार, बेल, रीथ और चरनी की भी बिक्री हुई. पुआल की चरनी के साथ प्लास्टिक की चरनी भी मिल रही है. ये चरनी चरवाहे, दूतों,  माता मरियम और यीशु से सजी हैं.

नये साल तक रहेगी रौनक

क्रिसमस से लेकर नये साल तक गिरजाघरों में रौनक देखी जायेगी. फादरों ने जानकारी दी कि क्रिसमस की गिरजाघर नया साल को लेकर सजे रहेंगे. इस दौरान राजधानी के गिरजाघरों में काफी संख्या में लोग घूमने आते है.

इसे भी पढ़ेंः संघ प्रमुख मोहन भागवत के कार्यक्रम के लिए सजा मेगा स्पोर्ट्स कांप्लेक्स

Telegram
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close