Crime NewsLead NewsNational

गोलियों से थर्राया चित्रकूट जेल, मुख्तार का गुर्गा समेत दो मारा गया, शूटर भी ढेर

Chitrakoot: चित्रकूट जेल में शुक्रवार को जमकर गोलीबारी हुई. सीतापुर के शार्प शूटर अंशुल दीक्षित ने कुख्यात अपराधी वसीम काला और मिराजुद्दीन को गोलियों से भून डाला. मिराजुद्दीन मुख्तार अंसारी का गुर्गा कहा जाता है. इसके बाद जेल परिसर में ही सुरक्षाकर्मियों ने शूटर अंशुल दीक्षित को भी ढेर कर दिया है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार शूटर अंशुल कई महीने से जेल में था और इससे पहले से ही वसीम काला व मिराजुद्दीन इस जेल में था. शुक्रवार की सुबह अंशुल ने मौका पाकर पिस्टल से दोनों बदमाशों पर ताबड़तोड़ गोलियां चला दीं. जेल में तैनात सुरक्षाकर्मी कुछ समझ पाते इससे पहले ही अंशुल ने दोनों के शरीरी में कई राउंड गोलियां उतार दीं. दोनों की मौके पर ही मौत हो गई

इसे भी पढ़ें:भाई-बहन के मौत के बाद सदमे में हैं ‘शक्तिमान’ फेम मुकेश खन्ना,कही ये बात

ram janam hospital
Catalyst IAS

इसके बाद सुरक्षाकर्मियों ने अंशुल को ललकारा और आत्मसमर्पण करने को कहा, लेकिन उसने सुरक्षा कर्मियों पर फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी फायरिंग में वह पुलिस की गोली से मारा गया. खबर मिलते ही वरिष्ठ पुलिस अधिकारी समेत बड़ी संख्या पुलिस जवान जेल पहुंच गये.

The Royal’s
Pitambara
Pushpanjali
Sanjeevani

इसे भी पढ़ें:MNREGA: 3 महीने से भुगतान नहीं होने से कर्मियों से लेकर श्रमिक तक बेहाल, पैसे के अभाव में टूट रही कमर

बताया जा रहा है कि वसीम काला को सहारनपुर जेल से और मिराजुद्दीन बनारस से यहां लाया गया था. पता चला है कि सीतापुर जिले के मानकपुर कुड़रा बनी का मूल निवासी अंशुल उर्फ अंशू दीक्षित लखनऊ विश्वविद्यालय में छात्र के रूप दाखिला लेने के बाद अपराधियों के संपर्क में आया. वर्ष 2008 में वह गोपालगंज (बिहार) के भोरे में अवैध असलहों के साथ पकड़ा गया था.

इसे भी पढ़ें:बरमुड़ी कोलियरी क्षेत्र से पुलिस ने छापेमारी कर दो टन अवैध कोयला जब्त किया

Related Articles

Back to top button