BiharLead News

चिराग के जीजा ने दिया बड़ा बयान, कहा- रामविलास जी के सपने को चिराग ने तोड़ दिया

Patna: अपने चाचा से धोखा खाने के बाद चिराग पासवान ने अब हिसाब करने का मन बना लिया हैं. इसी क्रम में उन्होंने पशुपति पारस और चचेरे भाई प्रिंस राज सहित तीनों सांसदों को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है.

दरअसल आज शाम 4 बजे चिराग ने अपनी पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की आपात बैठक बुलाई थी. इस बैठक में पारस समेत पार्टी के तमाम सांसदों के खिलाफ कार्रवाई का फैसला लिया गया.

इस दौरान उन्होंने 5 सांसदों को पार्टी ने बाहर का रास्ता दिखाते हुए निष्कासित कर दिया है. इन सब के ऊपर पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल रहने और राष्ट्रीय नेतृत्व के खिलाफ साजिश करने का दोषी पाते हुए कार्यवाही की गई है.

advt

इसे भी पढ़ें :चाचा ने भतीजे को मारी लंगड़ी, एलजेपी अध्यक्ष पद से चिराग को हटाया, जानें किसे दी जिम्मेदारी

आपको ये भी बता दें कि पार्टी के सभी सांसदों के विरोध के कारण भले ही लोकसभा में पार्लियामेंट्री बोर्ड के अध्यक्ष की कुर्सी चिराग के हाथ से निकल गई हो, लेकिन वह अब पार्टी की कमान अपने हाथ से निकलने नहीं देना चाह रहे हैं. यहीं वजह है कि 14 जून से ही चिराग पासवान मंथन में जुटे हुए थे.

मालूम हो कि चिराग पासवान के चाचा पशुपति पारस ने ही रातों रात तख्ता पलट करते हुए एक तरीके से चिराग पासवान को कुर्सी से हटा डाला. लोजपा के पांच सांसदों ने पशुपति पारस को अपना नेता चुन लिया है.

इसे भी पढ़ें :चिराग के बाद JDU का ‘ऑपरेशन कांग्रेस’ शुरू, फिर से बदलनेवाला है कई विधायकों का ठिकाना

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: