न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अमेरिका में रोकी जाएगी चाइना मोबाइल की सेवा

425

NW Desk : अमेरिका में चाइना मोबाइल की सेवा नहीं चलेगी. इस बात का खुलासा करते हुए ट्रंप प्रशासन ने कहा कि वो अमेरिका में चाइना मोबाइल की सेवा रोकना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि सुरक्षा कारणों से ऐसा करने के बारे में सोचा गया है.

चीन सरकार ने वर्ष 2011 में यूएस फेडरल कम्युनिकेशन कमीशन (एफसीसी) को चाइना मोबाइल के लाइसेंस के लिए अर्जी दी थी. जिसे की अमेरिकी वाणिज्य विभाग के द्वारा खारिज करने की सलाह दी गयी है.

इसे भी पढ़ें- सीडब्ल्यूसी का बड़ा खुलासा : अविवाहित गर्भवती लड़कियों को निर्मल हृदय में मिलता है आश्रय, बच्चा होने पर बेच दिया जाता है उसे

चाइना मोबाइल की लाइसेंस की अर्जी को एफसीसी के द्वारा खारिज करने को कहा गया

वहीं विभाग के संचार एंव सूचना सहायक सचिव डेविड जे रेडिल ने इस बारे में कहा कि चाइना मोबाइल के साथ बातचीत में अमेरिकी कानून और राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर जो कानून बताए गए हैं वो अभी नहीं सुलझे हैं. इसी वजह से चाइला मोबाइल की लाइसेंस की अर्जी को एफसीसी के द्वारा खारिज कर देने के लिए कहा गया है.

हालांकि चाइना मोबाइल और एफसीसी ने इस बारे में कुछ भी प्रतिक्रिया नहीं दी है. गौरतलब है कि इससे पहले चीनी सरकार के अधिकार वाली फर्म जेडटीई ने अमरीकी सप्लायरों से सामान खरीदने पर रोक लगा दी थी. जिससे की व्यापार प्रभावित हुआ था. साथ ही फर्म ने उत्तर कोरिया व ईरान के साथ लगे आर्थिक प्रतिबंधों का उल्लंघन किया था.

इसे भी पढ़ें- आखिरकार चालू हो ही गया कांके स्थित स्लॉटर हाउस, अब लोगों को मिलने लगा हाइजीनिक मीट

जेडटीई मैनेजमेंट के साथ उतना बुरा नहीं हुआ जैसा महसूस किया जा रहा था

द वॉल स्ट्रीट जर्नल ने इस संबंध में एक लेख प्रकाशित किया जिसमें यह कहा गया था कि जेडटीई के मैनेजमेंट के साथ उतना अधिक बुरा नहीं हुआ जैसा पहले महसूस किया जा रहा था. इस लेख के बाद फ्लोरिडा के सीनेटर मार्को रुबियो ने सवाल उठाया कि ट्रंप प्रशासन एक चीनी फर्म के साथ इतनी बातचीत क्यों कर रहा है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: