National

भारत की अग्नि -5 मिसाइल्स से चिंतित चीन ने अरुणाचल के निकट तैनात की 622 मिसाइल ब्रिगेड

विज्ञापन

NewDelhi : डोकलाम का किस्सा तो पुराना हो गया है. अब नयी कहानी है कि चीन की आर्मी ने भारतीय सीमा से सटे इलाकों में अपने  नये मिलिट्री कैंप बनाये हैं.  खबरों के अनुसार अरुणाचल प्रदेश से लगभग 900 किलोमीटर दूर चीन के युक्सी में सीक्रेट गाइडेड मिसाइल यूनिट होने की खुफिया जानकारी मिली है. रक्षा जानकारों के अनुसार चीनी सेना के साउथर्न थिएटर कमांड के तहत आने वाले युनान प्रोविंस के युक्सी का रणनीतिक तौर पर काफी महत्व है.  चीन की यह हरकत ऐसे समय में सामने आयी,  जब प्रधानमंत्री अरुणाचल के दौरे पर थे. खुफिया रिपोर्ट के अनुसार चीन ने युक्सी में 622 मिसाइल ब्रिगेड को तैनात किया है, जो गाइडेड मिसाइलों से लैस है. चीन इस नये बेस पर लम्बी दूरी तक मार करने वाली मिसाइल्स को तैनात कर रहा है. देखा जाये तो भारत के खिलाफ चीन अपने वेस्टर्न थिएटर कमांड को पहले से ही काफी मजबूत कर चुका है और अब साउथर्न थिएटर कमांड में नयी मिसाइल ब्रिगेड की जानकारी सामने आने के बाद भारतीय एजेंसीज इस खबर पर लगातार नज़र रख रही है. केंद्रीय सुरक्षा एजेंसी में तैनात एक अधिकारी के अनुसार युक्सी भारत के करीब है और यहां चीनी मिसाइल ब्रिग्रेड की जानकारी आने के बाद इसके पीछे चीनी सेना का क्या मकसद है. इसका पता लगाने की कोशिश की जा रही है. 622 मिसाइल ब्रिगेड के पास फ़िलहाल इस वक़्त कौन-कौन सी मिसाइल है और उनका रेंज क्या है.?

बता दें कि साउथर्न थिएटर कमांड के दायरे में चीन का साउथ चीन सी फ्लीट, ग्वांगडोंग, गुंग्क्सी, हुनान और युनान आता है. रक्षा जानकर चीन के इस नये आर्डर ऑफ बैटल को समझने में लगे हुए हैं. आर्डर ऑफ़ बैटल का मकसद यह है कि युद्ध के दौरान दुश्मन देश की सेना किस तरह से अपने रक्षा संसधानो का इस्तेमाल करती है.

खुफिया एजेंसीज 622 मिसाइल ब्रिग्रेड के बारे में जानकारी जमा कर रही है

खुफिया एजेंसीज पीपल लिबरेशन आर्मी रॉकेट फोर्स की 622 मिसाइल ब्रिग्रेड के बारे में जानकारी इकट्ठा करने में लगी हुई है. चीन के पास अलग अलग रेंज तक मार करने वाली मिसाइल्स है, जो 250 किलोमीटर से लेकर हजारों किलोमीटर दूर तक किसी भी टारगेट को तबाह कर सकती है. हालांकि भारत भी लगातार अपने मिसाइल प्रोग्राम को मजबूत करने में लगा हुआ है. भारत अपनी अंतर-महाद्वपीय बैलिस्टिक मिसाइल प्रणाली अग्नि -5 को सेना में शामिल करने में लगा हुआ है. अग्नि -5 मिसाइल्स चीन के किसी भी इलाके के लक्ष्य को भेद सकती है. अग्नि की सबसे खास बात ये है की ये अपने साथ परमाणु को भी ले जा सकती है. इसके साथ ही ब्रह्मोस मिसाइल्स को भी सीमा से सटे इलाकों में तैनात किया जा रहा है, जिससे चीन घबराया हुआ है.

advt
 इसे भी पढ़ें :  सरकार के खिलाफ बोला, तो अमोल पालेकर को रोका गया, भाषण अधूरा छोड़ा

Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close