न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

चीन : सबसे बड़ा जुआरी : जुए में एक खरब हार गये जियोनी के चेयरमैन Liu Lirong, कंपनी दिवालिया !

चीन की स्मार्टफोन निर्माता कंपनी जियोनी एक बड़ा ब्रांड है. अर्थजगत में इस बात की हलचल है कि चीन की यह कंपनी दिवालिया होने की कगार पर आ गयी है

88

Beijing : चीन की स्मार्टफोन निर्माता कंपनी जियोनी एक बड़ा ब्रांड है. अर्थजगत में इस बात की हलचल है कि चीन की यह कंपनी दिवालिया होने की कगार पर आ गयी है. वैसे कंपनी की ओर से अभी कोई जानकारी नहीं दी गयी है. सिक्योरिटीज टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, कंपनी सप्लायर्स को पैसे नहीं दे पा रही है. खबरों के अनुसार 20 सप्लायर्स द्वारा शेन्ज़ेन इंटरमीडिएट पीपुल्स कोर्ट में कंपनी के दिवालियेपन को लेकर आवेदन दायर किया गया है.  बता दें कि चीन की वेबसाइट Jiemian ने लिखा है कि जियोनी के चेयरमैन Liu Lirong साइपैन के एक कसीनो में जुआ खेलते समय कथित तौर पर 10 अरब युआन (लगभग एक खरब रुपये) हार गये, जिसके कारण कंपनी को इस दौर से गुजरना पड़ रहा है. लेकिन इसके बाद Lirong ने सिक्योरिटीज टाइम्स को बताया कि वे एक अरब युआन हारे हैं. Lirong ने यह भी दावा किया कि उन्होंने जुए के लिए जियोनी के कैश का गलत इस्तेमाल नहीं किया, लेकिन यह कहा कि उन्होंने कंपनी से फंड जरूर उधार लिया है.

जियोनी भारत के टॉप 5 स्मार्टफोन ब्रांड में शामिल होने को बेकरार

काउंटरप्वॉइंट के रिसर्च के अनुसार 2017 की पहले तिमाही में जब जियोनी ने सेल्फी फोकस्ड कैमरे के साथ एंट्री की थी तब भारतीय बाजार में इसका 4.6 पर्सेंट शेयर था. 15 से 30 हज़ार के प्राइस ब्रैकेट में बेचने वाली कंपनी में जियोनी पांच टॉप ब्रांड्स में से एक रही. इसके बाद 2018 के दूसरे तिमाही में लेनोवो, माइक्रोमैक्स और सोनी के साथ जियोनी के भी वर्ल्डवाइड शिपमेंट में गिरावट देखी गयी. अप्रैल में खबर आयी कि भारत के टॉप 5 स्मार्टफोन ब्रांड में शामिल होने के लिए जियोनी इस साल 6.5 अरब रुपये का निवेश करेगी. कंपनी ने अप्रैल में Gionee F205 और Gionee S11 Lite के साथ भारतीय बाजार में वापसी की थी. इन दोनों फोन्स को सेल्फी के शौकीन लोगों को ध्यान में रखकर लॉन्च किया गया था.

Related Posts

# UNGeneralAssembly के 74वें सत्र को संबोधित करने न्यूयॉर्क पहुंचे #PMModi

सैयद अकबरुद्दीन ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र महासभा के 74वें सत्र में देश की भागीदारी एवं पहुंच अद्भुत होगी

इसे भी पढ़ें : नोटबंदी उच्च वर्ग के नहीं, भ्रष्ट लोगों के खिलाफ थी  : नीति आयोग उपाध्यक्ष

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

you're currently offline

%d bloggers like this: