World

 चीन-ब्रिटेन के बीच हांगकांग मामले को लेकर जुबानी जंग तेज

London : हांगकांग को लेकर चीन और ब्रिटेन के बीच जुबानी जंग तेज हो गयी है. चीन ने ब्रिटेन से दो टूक कहा है कि वह हांगकांग मामले में और अधिक दखल देने से बचे तो वहीं ब्रिटेन ने चीन के राजदूत को तलब किया है.

ब्रिटेन के उपनिवेश रहे हांगकांग में प्रदर्शनों के चलते लंदन और बीजिंग के बीच 22 साल पुराने ऐतिहासिक समझौते को लेकर भी तनाव फिर से पैदा हो गया है. इस समझौते के तहत ब्रिटेन ने हांगकांग को चीन के सुपुर्द किया था.

इसे भी पढ़ें – मामला BJP MP समीर उरांव के भाई की जमीन खरीद का, LRDC मनोज रंजन व सीओ वंदना भारती की भूमिका संदिग्ध

advt

हंट के बयान पर चीन का पलटवार

ब्रिटेन के विदेश मंत्री और प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार जेरेमी हंट ने बीजिंग को आगाह किया कि वह विरोध प्रदर्शनों को दमन के बहाने के रूप में इस्तेमाल न करे. उन्होंने कहा कि चीन अगर तीन दशक पहले लंदन में की गयी प्रतिबद्धताओं को तोड़ देता है तो उसे गंभीर परिणा भुगतने होंगे.

हंट के बयान पर पलटवार करते हुए चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने कहा “वह ब्रिटिश उपनिवेशवाद के फीके गौरव की कल्पना करते और अन्य देशों के मामलों में दखल देने की अपनी पुरानी बुरी आदत से मजबूर दिखाई देते हैं. उन्होंने कहा कि मैं फिर से दोहराता हूं कि हांगकांग अपनी मातृभूमि में लौट चुका है.

इसे भी पढ़ें – आईआईटी-आईएसएम : बीटेक की सभी 952 सीटें  फुल, छात्राओं की क्लोजिंग रैंक पिछड़ी

हांगकांग में ब्रिटेन सरकार के दखल से दोनों देशों के रिश्तों को नुकसान

ब्रिटेन में चीन के राजदूत लियू शियाओमिंग द्वारा लंदन में संवाददाता सम्मेलन बुलाये जाने से कूटनीतिक हलचल और तेज हो गयी. लियू ने कहा कि मुझे लगता है कि हांगकांग में ब्रिटेन सरकार के दखल से दोनों देशों के रिश्तों को नुकसान हुआ है.

adv

उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि ब्रिटेन सरकार परिणामों को समझेगी और दोनों देशों के बीच संबंधों को नुकसान न हो, इसके लिये इस मामले में दखल देने से बचेगी. लियू के इस बयान के बाद ब्रिटेन के विदेश मंत्रालय ने उन्हें तलब किया है.

इसे भी पढ़ें – बकोरिया कांड को रिक्रिएट कर जांच करेगी CBI, सेंट्रल फोरेंसिक लैब के डायरेक्टर समेत कई अधिकारी पहुंचे…

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button