न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

चीन ने फिर चली चाल, श्रीलंका को तोहफे में दिया युद्धपोत

हिंद महासागर में दबदबा बढ़ाने की चीन की कोशिश

251

Beijing: चीन ने एक बार ऐसी चाल चली है कि हिंद महासागर में उसका दबदबा और बढ़ जाये. चीन ने श्रीलंका को तोहफे में एक युद्धपोत दिया है. वह उसे अपने पक्ष में लुभाने की कोशिश कर रहा है. पिछले कुछ वर्षों से चीन सामरिक रूप से महत्वपूर्ण इस द्वीपीय देश के साथ सैन्य संबंधों को मजबूत कर रहा है. चीन द्वारा गिफ्ट किया गया युद्धपोत ‘P625’ पिछले हफ्ते कोलंबो पहुंचा. यही नहीं, रेल के डिब्बे और इंजन बनाने वाली चीन की कंपनी ने घोषणा की है कि वह जल्द ही श्रीलंका को नये तरह की 9 डीजल ट्रेनों की डिलिवरी करेगी.

इसे भी पढ़ें – मेहरबानीः मां अंबे कंपनी ने जब्त कोयला को रैक लोडिंग कर बाहर भेजा, चुप रहे पूर्व हजारीबाग डीसी व माइनिंग अफसर

2015 में चीनी सेना से रिटायर हुआ है यह युद्धपोत

052 टाइप के इस युद्धपोत (तोंगलिंग) को चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी की नेवी में 1994 में शामिल किया गया था. 2300 टन के इस युद्धपोत को 2015 में  पीएलए नेवी से रिटायर कर दिया गया. अब इसे ही श्रीलंका नेवी को तोहफे में दिया गया है.

इसे भी पढ़ें- ना POTA खराब था, ना NIA खराब है, खराब तो इसके इस्तेमाल करने वाले होते हैं

SMILE

पिछले साल ही भारत ने भी दिया था जहाज

श्रीलंका की नौसेना ने लिट्टे के खिलाफ संघर्ष में अहम भूमिका निभायी थी. उसके पास करीब 50 लड़ाकू, सपोर्ट शिप और तटीय इलाकों की निगरानी के लिए गश्ती प्लेन हैं जो मुख्य रूप से भारत, अमेरिका, चीन और इजरायल से मिले हैं. भारत ने पिछले साल ही अपने इस अहम पड़ोसी की नौसेना को एक गश्ती जहाज गिफ्ट में दिया था. इससे पहले भी भारत ने 2006 और 2008 में 2 गश्ती पोत दिये थे.

इसे भी पढ़ें – मेन रोड में पार्किंग चिह्नित करनेवाला निगम ईस्ट जेल रोड और सर्कुलर रोड में क्यों नहीं वसूलता पार्किंग शुल्क

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: