NationalNEWSUncategorized

‘चमकी की दुनिया’ से बच्चे सीखेंगे स्वास्थ्य और शिक्षा का पाठ

अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस पर सेसमी वर्कशॉप इंडिया ने यूट्यूब चैनल पर लांच की सीरीज

Ranchi: बच्चों के संपूर्ण विकास के मकसद से सेसमी वर्कशॉप इंडिया ने इस अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस अपने हिंदी यूट्यूब चैनल पर नई सीरीज़ ‘चमकी की दुनिया’ लांच की है. इस सीरीज का मकसद बच्चों का चारित्रिक विकास के साथ ही उन्हें लैंगिक असामनता के प्रति सजग करना भी है. बच्चे इससे स्वास्थ्य व शिक्षा का पाठ भी सीखेंगे.

 

चमकी की दुनिया सीरीज़ 5 साल की चुलबुली, जिज्ञासु स्कूल जाने वाली लड़की पर आधारित है. चमकी का किरदार एक संवेदनशील, समझदार और मिलनसार लड़की का है, जिसे स्कूल जाना बहुत पसंद है. यह सीरीज प्रारंभिक साक्षरता, रचनात्मक सोच और तर्क, लैंगिक समानता, पारिवारिक और सामुदायिक जीवन, स्वस्थ आदतें, जैसे अन्य विषयों को सम्मोहक और विनोदी कहानियों, संगीत और कला के माध्यम से संबोधित करती है.

इसे भी पढ़ेंःपंचायतों में ऑडिट के नाम पर मोटी वसूली कर रहे फर्जी सीए

अपने पहले सीजन में चमकी की दुनिया बच्चों के मनोरंजन के लिए 21 कहानियां ला रहा है. प्रत्येक एपिसोड बच्चों के सामाजिक-भावनात्मक कल्याण, स्वास्थ्य, स्वच्छता, पर्यावरण जैसे विषयों पर सरल और मज़ेदार तरीक से आधारित है, जिनमें  लैंगिक समानता को ध्यान में रखा गया है, ताकि बच्चे पूर्ण सक्षमता के साथ लैंगिक भेदभाव और रूढ़िवादी सोच से मुक्त हो सकें और अपने लक्ष्य को प्राप्त कर सकें. सेसमी वर्कशॉप इंडिया की प्रबंध निदेशक सोनाली खान ने कहा, “छोटे बच्चे अपने आसपास क्या हो रहा है उसे देख कर बहुत कुछ सीखते और समझते हैं, यही कारण है कि हमारे बच्चों के लिए घरों और समुदायों में संवेदनशील, सामान और भेदभाव मुक्त वातावरण होना चाहिए. यह उन्हें बड़े होकर संवेदनशील और बेहतर इंसान बनने में मदद करेगा. चमकी का बुद्धिमान, जिज्ञासु, खुशमिज़ाज, समस्या को हल करने का किरदार बच्चियों के लिए काफी प्रेरणादायक साबित होगा. इस सीरीज के माध्यम से हम लड़कियों को उनकी आकांक्षाओं को पूरा करने, उनके आत्मविश्वास के निर्माण हेतु परिवारों, माता पिताओं और बच्चों को यह यकीन दिलाना चाहते हैं की सभी बच्चे अपनी काबिलियत अनुसार अपने सपनों को पूरा कर सकते हैं.”

Advt

Related Articles

Back to top button