ChatraCrime News

नाबालिग की ‘जबरन’ करायी जा रही थी शादी, चाइल्ड लाइन ने रुकवायी

Chatra : जिले के सिमरिया थाना क्षेत्र के दुंदवा गांव में एक नाबालिग बच्ची की शादी की पूरी तैयारी थी. 30 नवंबर को उसकी बारात आनेवाली थी. इससे पहले शादी की कुछ रस्में अदा की जा रही थीं. इसी बीच इसकी सूचना चाइल्ड लाइन सब-सेंटर को मिली. चाइल्ड लाइन की एक टीम तुरंत नाबालिग के घर पहुंची और उसने उस नाबालिग की शादी रुकवा दी. मामले की जानकारी सिमरिया थाना की पुलिस को भी दी गयी. पुलिस ने भी इस शादी पर रोक लगा दी है.

इसे भी पढ़ें- गढ़वा: यात्री बस पलटी, 20 यात्री जख्मी, तीन की हालत गंभीर

परिजनों ने लड़की को बालिग बताया, लेकिन सर्टिफिकेट के अनुसार उम्र सिर्फ 15 साल

बता दें कि चाइल्ड लाइन सब-सेंटर के हेल्पलाइन नंबर 1098 पर एक अनजान शख्स ने कॉल किया. उसने बताया कि सिमरिया थाना क्षेत्र स्थित दुंदवा गांव में एक 15 वर्ष की नाबालिग बच्ची की शादी करवायी जा रही है. उसकी बारात 30 नवंबर को आनेवाली है. उसकी शादी की कुछ रस्में भी पूरी कर ली गयी हैं. यह सूचना मिलने के बाद चाइल्ड लाइन सब-सेंटर के लीडर और टीम के सदस्य शादी वाले घर में पहुंच गये. टीम ने पाया कि वहां शादी की तैयारियां चल रही हैं. बच्ची के परिजनों के साथ-साथ सभी रिश्तेदार भी वहीं मौजूद थे. टीम ने जब उनसे पूछताछ की, तो परिजनों ने बताया कि लड़की बालिग है. लेकिन, जब टीम ने लड़की के सर्टिफिकेट की जांच की, तो पाया गया कि उसकी उम्र महज 15 वर्ष है. इस पर टीम के सदस्यों ने यह शादी रोकने को कहा और मामले की जानकारी सिमरिया थाना की पुलिस को दी. पुलिस ने मामले में संज्ञान लेते हुए नाबालिग की शादी पर रोक लगा दी.

नाबालिग बच्ची की ‘जबरन’ करायी जा रही थी शादी, चाइल्ड लाइन ने रुकवायी

इसे भी पढ़ें- वन अधिनियम 1980 में संशोधन कर हेमंत सरकार ने बनाया है माइका कारोबार को विकसित करने का प्लान : सचिव

नाबालिग बोली- मैं पढ़ना चाहती हूं, मेरे मां-बाप जबरन करा रहे मेरी शादी

चाइल्ड लाइन की टीम नाबालिग बच्ची को अपने साथ चाइल्ड लाइन सेंटर चतरा ले गयी है. इस दौरान बच्ची ने टीम को बताया, “मैं आगे की पढ़ाई पूरी करना चाहती हूं, लेकिन माता-पिता जबरन मेरी शादी करवा रहे हैं. इस शादी से बिल्कुल सहमत नहीं हूं.” जल्द ही इस बच्ची को बाल कल्याण समिति के समक्ष पेश किया जायेगा.

सख्त कार्रवाई होनी चाहिए : फिल्मन बाखला

चाइल्ड लाइन सब-सेंटर के टीम लीडर फिल्मन बाखला ने कहा, “चतरा जैसे शहर में हमारी टीम ने कई बाल विवाह पर रोक लगायी है. छोटी-छोटी बच्चियों को शादी की उम्र नहीं होने के बावजूद शादी के बंधन में बांध दिया जाता है. इसमें हमारी टीम सतर्कता दिखाते हुए अविलंब मामले पर कार्रवाई करते हुए नाबालिगों को इंसाफ दिला रही है. बाल विवाह कानूनन अपराध है और ऐसा करनेवालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए.”

इसे भी पढ़ें- ‘लव जिहाद’ के पीछे की राजनीतिक साजिश को दिखाता उपन्यास ‘इश्क़ इंक़लाब’ चर्चा में

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: