न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बिजली का पोल लगाने के लिए खोदे गये गड्ढे में गिरने से बच्‍चे की मौत

55

Palamu/Garhwa: पलामू प्रमंडल के गढ़वा जिले में बिजली विभाग की लापरवाही की वजह से चार साल के एक बच्चे की मौत हो गयी. घटना के बाद से बच्चे के परिजनों में विद्युत विभाग और निर्माण एजेंसी के प्रति भारी आक्रोश देखा जा रहा है. गढ़वा जिला अंतर्गत कांडी थाना क्षेत्र के कुरकुट्टा गांव में बिजली का पोल लगाने के लिए खोदे गए गड्ढे में एक बच्चे की गिरकर मौत हो गयी. मृतक बच्‍चे की पहचान राजा राम के पुत्र प्रभात कुमार (चार वर्ष) के रुप में की गयी है. घटना के बाद ग्रामीण आक्रोशित हैं. खबर लिखे जाने तक मृत बच्चे का शव मौके पर ही पड़ा था. पुलिस विभाग में कार्यरत पिता की प्रतीक्षा की जा रही थी.

खेलने के दौरान गड्ढे में गिरा बच्चा

ग्रामीणों ने बताया कि प्रभात घर के पास ही खेल रहा था कि अचानक घर के एकदम पास में ही बिजली का पोल लगाने के लिए खोदे गये गड्ढे में मुंह के बल गिर पड़ा। परिजनों व ग्रामीणों के द्वारा गड्ढे में से उसे निकाल कर सोहगाड़ा गांव स्थित प्राइवेट डॉक्टर के पास ले जाया गया. लेकिन, डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया. बच्चे की मौत की खबर सुनते ही कुरकुट्टा गांव के सैकड़ों ग्रामीम घटनास्थल के पास जमा हो गये. विद्युतीकरण का काम करा रही कंपनी व ठेकेदार के विरुद्ध जमकर आक्रोश व्यक्त किया.

एक महीने से कई जगह गड्ढा कर खुला छोड़ा

परिजनों व ग्रामीणों के अनुसार एक माह से गांव में कई जगह गड्ढा खोदकर खुला छोड़ दिया गया है. जिस समय गड्ढों को खुला छोड़ा जा रहा था उस समय मौके पर काम करा रहे ठेकेदार अरूण कुमार पाल को इस बावत कहा गया था. उन्हें खुले गड्ढों से सुरक्षा का उपाय भी करने की बात कही गयी थी. लेकिन बात को अनसुना कर दिया गया, जिसकी कीमत एक बालक की जान से चुकानी पड़ी.

Related Posts

गढ़वा एग्रीकल्चर कॉलेज : 7 करोड़ में भवन बना, मरम्मत के लिये दिये 10 करोड़, पर नहीं होती पढ़ाई

छह एकड़ में बना है कॉलेज, हॉस्टल से लेकर सभी सुविधाएं उपलब्ध

दोषियों के खिलाफ की कार्रवाई की मांग

परिजनों व ग्रामीणों ने इस गंभीर हादसे के लिए दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की है. बालक का शव घर के दरवाजे पर ही पड़ा हुआ था. ग्रामीणों व परिजनों द्वारा मृत बालक के पिता का इंतजार किया जा रहा था. जो पुलिस विभाग में कार्यरत हैं. घटना की जानकारी ठेकेदार अरूण पाल को दी गई तो उन्होंने कहा कि सुरक्षा का इंतजाम किया गया था. जबकि स्टर्लिंग कंपनी के इंजीनियर से संपर्क नहीं होने से उनका पक्ष नहीं लिया जा सका. इधर, गढ़वा सदर एसडीपीओ ओम प्रकाश तिवारी ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि इस संबंध में कार्रवाई की जा रही है.

इसे भी पढ़ें: पलामू: हैदरनगर देवी धाम बनेगा पर्यटन स्थल, मोहम्मदगंज भीम चूल्हा क्षेत्र के दिन भी बहुरेंगे

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

you're currently offline

%d bloggers like this: