न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मुख्यमंत्री के हेलीकॉप्टर लैंडिंग में हुई चूक, मची अफरा-तफरी 

94

Palamu : उतरी कोयल परियोजना सहित आधा दर्जन योजनाओं के शिलान्यास के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चौपर के उड़ जाने के बाद मुख्यमंत्री के हेलीकॉप्टर लैंडिंग में बड़ी चूक हो गयी. इससे चियांकी हवाई अड्डा परिसर में कुछ देर के लिए अफरा-तफरी मच गयी. हालांकि बाद में स्थिति को पुलिस अधीक्षक ने संभाला और सही जगह हेलीकॉप्टर की लैंडिंग करायी.

कहां हुई चूक ?

मेदिनीनगर एयरपोर्ट ग्राउंड में पीएम नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम में हिस्सा लेने के बाद राज्यपाल द्रोपदी मुर्मू और सीएम रघुवर दास को चियांकी हवाई अड्डा से सीधे जमशेदपुर जाना था. जिसके लिए एयरपोर्ट ग्राउंड के पिछले हिस्से में दोनों माननीय चॉपर का इंतजार कर रहे थे. लेकिन गार्ड ऑफ ऑनर के गलत स्थान पर होने के कारण चॉपर लोगों की भारी भीड़ के बीच बिना किसी सुरक्षा घेरे के उतर गया. जिससे लोगों में अफरा-तफरी मच गयी.

चॉपर को देखने के लिए जुटी लोगों की भीड़

चॉपर को देखने के लिए लोगों की भीड़ जुट गयी थी. बाद में कूदते-फांदते आए एसपी इंद्रजीत माहथा के निर्देश पर चॉपर को फिर से सही स्थान पर भेजा गया. इसके बाद राज्यपाल और सीएम को गार्ड ऑफ ऑनर को दिया गया. बाद में दोनों हेलीकॉप्टर में बैठकर रवाना हुए.

कैसे हुई चूक ?

दरअसल, प्रधानमंत्री के साथ तीन विशेष चैपर के आने के कारण शुक्रवार को सीएम के हेलीकॉप्टर को चियांकी हवाई अड्डा पर लैंड नहीं कराया गया था. चियांकी हवाई अड्डा से पांच किलोमीटर दूर पुलिस लाइन में सीएम का हेलीकॉप्टर लैंड किया था. शनिवार को दोपहर करीब 1.06 बजे प्रधानमंत्री के हेलीकॉप्टर के जाने जाने पर मुख्यमंत्री और राज्यपाल कार्यक्रम स्थल के पंडाल के पीछे बने हेलीपैड पर हेलीकॉप्टर की इंतजार में खड़े थे. लेकिन गार्ड ऑफ ऑनर की तैयारी वहां से 300 मीटर दूर हो रही थी. कार्यक्रम में भाग लेने आए लोग इसी स्थल से होकर निकल रहे थे. सीएम का हेलीकॉप्टर जब पुलिस लाइन से उड़ान भरा तो ऊपर से पायलट ने नीचे गार्ड ऑनर की तैयारी देखकर वहीं पर हेलीकॉप्टर उतार दी. इससे मामला बिगड़ गया.

गिर सकती है सार्जेंट मेजर पर गाज !

करीब एक सप्ताह से चल रही तैयारी का समापन में भारी गड़बड़ी हो जाने से कार्रवाई की जा सकती है. गार्ड ऑफ ऑनर पलामू के सार्जेंट मेजर को देना था. ऐसे में चर्चा है कि इस बड़ी चूक पर सार्जेंट मेजर पर कार्रवाई हो सकती है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: