BiharLead News

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राजगीर जू सफारी का किया उद्घाटन, सैलानी ले सकेंगे आनंद

Rajgir : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को राजगीर जू सफारी का उद्घाटन किया. इस मौके पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि यह ज़ू सफारी पूर्वोत्तर भारत का पहला सबसे आधुनिक ज़ू सफारी है. इसमें 5 वन्यजीवों के अलावा तितली घर का भी निर्माण किया गया है. इसे स्वर्णगिरि व वैभरगिरि के बीच बनाया है. यहां आनेवाले पर्यटक नेचर सफारी के बाद ज़ू सफारी का भी आंनद उठा सकेंगे. साथ ही यहां घोड़ा कटोरा, विश्वशांति स्तूप जैसे कई ऐतिहासिक धरोहरों का अवलोकन कर सकते हैं. यहां की पंच पहाड़ियों के बीच आने से मन को अलग शांति मिलती है. यहां हिन्दू, मुस्लिम, सिक्ख, बौद्ध, जैन समेत अन्य धर्मों के लोग भारत से ही नहीं बल्कि कई देशों से भ्रमण करने आते हैं.

इसे भी पढ़ें :  एयरपोर्ट पर रोके गये कपिल मिश्रा ने झारखंड सरकार से पूछा- क्या मरने वाला रूपेश की जगह तबरेज होता तो ऐसा करते, भाजपा में उबाल

176 करोड़ रुपये में किया गया है निर्माण

Catalyst IAS
ram janam hospital

इस सफारी का निर्माण 176 करोड़ रुपये में किया गया है. जो 191.2 हेक्टेयर में फैला है. यह सफारी राजगीर के पर्यटन स्थल में एक और नया आयाम जोड़ेगी. इसके कैम्पस के दो भवनों में रोमांच से भरपूर इंटरप्रिटेशन सेंटर, म्यूजियम, बटरफ्लाई पार्क, एम्फीथियेटर, बर्ड एवियरी, ऑडिटोरियम, ओरिएंटल सेंटर बनाये गये हैं. जबकि, जंगली क्षेत्र के खुले भाग में दहाड़ मारते बाघ, शेर, चीता, भालू, बार्किंग डियर व अन्य वन्यजीव होंगे.

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

इन नजारों को देखने के लिए सैलानी के लिए बख्तरबंद गाड़ी का इंतजाम किया गया है. इसी बख्तरबंद गाड़ी में बैठ कर लोग यहां के जानवर का नजारा देख सकेंगे. जानवरों के विचरण स्थलों के बीच-बीच में कई वॉच टावर लगाये गये हैं. इससे पूरी सफारी की गतिविधियों पर नजर रखी जायेगी. साथ ही, सैलानी इस पर चढ़ कर दो किलोमीटर दूरी की चीजों को स्पष्ट दिखानेवाले टेलीस्कोप की मदद से बाघ, शेर, चीता, भालू व अन्य जीवों के क्रियाकलाप को देख सकेंगे.

इसे भी पढ़ें :  हाईकोर्ट की मौखिक टिप्पणी- दोषी होने की जानकारी होने के बाद भी रातू सीओ के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं करती है सरकार

5 प्रकार की सफारियां

112.80 हेक्टेयर में पांच वन्यजीवों बिअर, लेपर्ड, टाइगर, लॉयन व हर्बीवोर सफारियां हैं. 7.87 हेक्टेयर में रिसेप्शन एंड ओरिएंटेशन जोन, 2.32 हेक्टेयर में पार्किंग, 3.13 में एवियरी एंड बटर फ्लाई जोन, 4.0 में मैनेजमेंट जोन, 61 हेक्टेयर में ग्रीन जोन होगा. स्काई जोन में पैगोडा, वाच टावर, नेचर कैम्प व वाकिंग ट्रेल होगा. सफारी निर्माण की स्वीकृति सरकार ने 6 अगस्त 2015 को दी थी.
राजगीर जू-सफारी में ये वन्यजीव हैं

सांभर : 08, हॉग डियर : 08, बार्किंग डीयर : 08, ब्लैक बक : 04, तेंदुआ : 02, भालू : 02, बाघ : 02, शेर : 06 शामिल हैं.

Related Articles

Back to top button