JharkhandJharkhand StoryLead NewsNEWSRanchiTOP SLIDERTop Story

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने मोरहाबादी में फहराया तिरंगा, बोले- झारखंड विकास की डगर पर

Ranchi: स्वतंत्रता दिवस के मौके पर आज झारखंड की राजधानी रांची के मोरहाबादी मैदान में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने झंडोत्तोलन किया. इसके बाद मुख्यमंत्री ने झारखंडवासियों को आश्वस्त किया कि राज्य को विकास की डगर पर ले जाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि 40,000 रुपये तक वेतन पाने वाले वैसे नियोजन जो राज्य के तहत होंगे, उसमें 75 फीसदी पद पर राज्य के लोगों को ही नियुक्त किया जाएगा. सरकार ने “झारखण्ड राज्य के निजी क्षेत्र में स्थानीय उम्मीदवारों का नियोजन अधिनियम, 2021” गठित किया है. उन्होंने कहा कि हमारा राज्य हर क्षेत्र में आगे बढ़ रहा है. चाहे वो स्वास्थ्य के क्षेत्र में हो, शिक्षा के क्षेत्र में या फिर खेल के क्षेत्र में हो.

यह भी पढ़े: आजादी के 75 साल: आन-बान-शान के साथ लहराया त‍िरंगा, देखें, Picture

मौके पर मुख्यमंत्री ने उपलब्धियां गिनायीं.

सीएम ने कहा कि 15 नवम्बर से राज्य के युवाओं के लिए ‘CM-SARTHI’ योजना प्रारंभ की जा रही है जिसके तहत विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए निःशुल्क प्रशिक्षण उपलब्ध करवाने के साथ-साथ प्रोत्साहन भत्ता उपलब्ध करवाया जाएगा. देश के प्रतिष्ठित संस्थानों में अध्ययन के लिए बच्चों के समक्ष आर्थिक परेशानी पैदा न हो इसके लिए हम ‘गुरूजी-स्चूडेंट क्रेडिट कार्ड’ योजना लेकर आ रहे हैं.

पुरानी पेंशन जल्द बहाल होगी

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकारी कर्मियों के लिए पुरानी पेंशन बहाल करने के सम्बन्ध में मैंने वादा किया था. इस सम्बन्ध में कैबिनेट से प्रस्ताव भी पारित हो चुका है. SOP निर्माण की प्रक्रिया आगे बढ़ रही है, शीघ्र ही इसे पूर्णरुपेण लागू कर दिया जायेगा.

विकास को गति देने के लिये नयी नीतियां बनी

मुख्यमंत्री ने कहा कि खनिज संसाधनों से परिपूर्ण और संभावनाओं से भरे हमारे राज्य में विकास को गति देने के लिए नई नीतियाँ बनाई गई है. इसी उद्देश्य से सेक्टर्स खासकर खाद्य प्रसंस्करण, नवीकरणीय ऊर्जा, लॉजिस्टिक्स, खनिज तथा वस्त्र आधारित उद्योगों पर विशेष रूप से ध्यान केन्द्रित किया गया है. श्रम आधारित उद्योगों के स्थापना से राज्य में रोजगार के नये अवसर सृजित होंगे वहीं दूसरी तरफ नई एवं आधुनिक प्रौद्योगिकी पर आधारित उद्योगों की स्थापना से औद्योगिक राज्य के रूप में झारखंड की पहचान फिर से स्थापित होगी.

विभिन्न नियुक्ति एवं परीक्षा संचालन नियमावलियों में किया गया संशोधनः
कहा कि सरकार द्वारा राज्य को Tourist destination के रूप में स्थापित करने के लिए नई पर्यटन नीति, 2021 अधिसूचित की गई है. इस पर्यटन नीति में राज्य में पर्यटन क्षेत्र में निवेश पर विभिन्न प्रकार के प्रोत्साहन दिये जाने का प्रावधान है. इसके साथ ही राज्य एवं राज्य के बाहर से आने वाले पर्यटकों को सभी आवश्यक सुविधाएँ मुहैय्या कराने के लिए पर्यटक स्थलों एवं उसके आस-पास आधारभूत संरचना का निर्माण कराया जा रहा है. राज्य सरकार द्वारा नियुक्ति की प्रक्रिया को गति प्रदान करने के लिए विभिन्न नियुक्ति एवं परीक्षा संचालन नियमावलियों के गठन तथा संशोधन की कार्रवाई प्राथमिकता के साथ की गयी है.

कृषि के विकास एवं किसानों की खुशहाली के लिए हरसंभव प्रयास हो रहा हैः
मुख्यमंत्री ने कहा कि कृषि के विकास एवं किसानों की खुशहाली के लिए हमारी सरकार हर स्तर पर प्रयास कर रही है. कृषि ऋण के बोझ से दबे राज्य के छोटे एवं सीमान्त किसानों को राहत पहुंचाने के लिए वर्ष 2020 से झारखंड राज्य कृषि ऋण माफी योजना संचालित की जा रही है. इस योजना अन्तर्गत अब तक कुल पंद्रह सौ उनतीस करोड़ रुपये की राशि तीन लाख तिरासी हजार एक सौ दो कृषकों के ऋण खाते में ट्रांसफर की गई है.

अब तक 4 लाख 28 हजार नये KCC आवेदन स्वीकृतः
किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिये अब तक 4 लाख 28 हजार नये KCC आवेदन स्वीकृत करते हुए पन्द्रह सौ तिरासी करोड़ की राशि स्वीकृत की गई है. किसानों के प्रशिक्षण के लिये समेकित बिरसा ग्रामिण विकास योजना-सह-कृषक पाठशाला की शुरूआत की गई. सरकार द्वारा किसानों को गुणवत्तायुक्त बीज 50 प्रतिशत अनुदान पर उपलब्ध करायी जा रही है.

Related Articles

Back to top button