न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

लोहरदगा : मुख्यमंत्री की सुरक्षा में नहीं हो चूक : उपायुक्त

अपने-अपने विभाग की ओर से किए जाने वाले व्यवस्था को पूरी जिम्मेवारी के साथ ससमय पूरा करने का निर्देश दिए.

101

Lohardaga : 01 अक्टूबर को जिले के भंडरा प्रखंड के जगमई पंचायत के झीको गांव में मुख्यमंत्री रघुवर दास के आगमन को लेकर उपायुक्त  विनोद कुमार ने समाहरणालय में वरीय अधिकारियों के साथ बैठक की. बैठक में उपायुक्त कुमार ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि मुख्यमंत्री के आगमन पर  विधि व्यवस्था एवं सुरक्षा में किसी प्रकार की चूक नहीं हो. उन्होंने स्पष्ट कहा कि विधि व्यवस्था में थोड़ी सी लापरवाही हुई तो संबंधित पदाधिकारी एवं कर्मी पर जबावदेही तय करते हुए सीधी कार्रवाई की जाएगी. बैठक में उपायुक्त कुमार ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि सभा स्थल की सुरक्षा पुरी तरह से मुस्तैदी के साथ होनी चाहिए.  इस दौरान उन्होंने संबंधित विभाग के पदाधिकारियों को अपने-अपने विभाग की ओर से किए जाने वाले व्यवस्था को पूरी जिम्मेवारी के साथ ससमय पूरा करने का निर्देश दिए.

इसे भी पढ़ें : पलामू : प्रधानमंत्री आवास निर्माण कार्यों में लाये तेजी : डीसी

तैयारी द्रुत गति से करने को लेकर अधिकारियों को दिया निर्देशित

उपायुक्त कुमार ने पथ निर्माण,आरइओ एवं विशेष प्रमंडल के कार्यपालक अभियंता को सड़क दुरूस्त करने का निदेश दिया. इस दौरान उन्होंने बिजली विभाग के कार्यपालक अभियंता को निर्बाध बिजली की आपूर्ति करने, सभा स्थल पर पेयजल की समूचित व्यवस्था करने समेत संबंधित विभाग को आवश्यक दिशा निर्देश दिए. बैठक में मुख्यमंत्री के आगमन पर होने वाले कार्यक्रम की तैयारी द्रुत गति से करने को लेकर अधिकारियों को निर्देशित किया. मौके पर उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें : 2 अक्टूबर को सीएम करेंगे स्वच्छता जागरूकता अभियान की शुरुआत 

मुख्यमंत्री ग्राम चौपाल के माध्यम से ग्रामीणों से करेंगे सीधा संवाद

मुख्यमंत्री रघुवर दास जिले के भंडरा प्रखंड अंतर्गत जगमई के झीको गांव में ग्राम चौपाल लगाएगें. जहां वे ग्रामीणों से सीधा संवाद स्थापित करेंगे. इस दौरान मुख्यमंत्री के द्वारा श्रमदान भी किया जायेगा.

बैठक में मुख्य रूप से डीडीसी परियोजना निदेशक आई टी डी ए श्री रबिन्द्र कुमार,अपर समाहर्ता श्री रंजीत कुमार सिन्हा,अनुमंडल पदाधिकारी ज्योति झा,जिला योजना पदाधिकारी श्री महेश भगत सहित जिले के अनेक विभागीय पदाधिकारी उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें : बोकारो : करोड़ो के लागत से बने चेक डैमों से एक इंच भी नहीं भीगी जमीन

स्वच्छ समाज के लिए स्वच्छता जरूरी : उपायुक्त

स्वच्छता ही सेवा कार्यक्रम के तहत कुडू के स्थानीय बाजारटांड में कार्यक्रम आयोजित की गई. कार्यक्रम में उपायुक्त विनोद कुमार ने शिरकत किए. इस दौरान उन्होंने बाजारटांड की सफाई कर स्वच्छता अभियान की शुरूआत की. उपायुक्त कुमार ने कहा कि स्वच्छ समाज के लिए स्वच्छता जरूरी है. उन्होंने कहा कि सिर्फ अभियान के समय ही सफाई नहीं हो बल्कि स्वच्छता का मशाल ऐसी जले की फिर से अभियान चलाने की आवश्कता नहीं पड़े. उपायुक्त कुमार ने समाज के प्रत्येक वर्ग के लोगों को जिले को सुंदर एवं स्वच्छ बनाने के लिए प्रेरित किया.

अपर समाहर्ता रंजीत कुमार ने कहा कि स्वस्थ जीवन के लिए स्वच्छता जरूरी है. कार्यक्रम के दौरान स्वच्छता को लेकर कई महत्वपूर्ण जानकारी दी गई। मौके पर पेयजल स्वच्छता विभाग के कर्मी मौजूद थे.

कैंडल मार्च निकाल किया गया जागरूक

स्वच्छता ही सेवा कार्यक्रम के तहत स्वच्छता के प्रति जागरूकता फैलाने के लिए कैंडल मार्च निकाला गया. जिसकी अगुवाई उपायुक्त विनोद कुमार ने किया. कैंडल मार्च बाजारटांड से आरंभ होकर मुख्यमार्ग का भ्रमण कर लोगों में स्वच्छता के प्रति नई चेतना लाने के लिए प्रेरित किया गया.

मौके पर स्थानीय जनप्रतिनिधि समेत कई प्रबुद्धगण उपस्थित थे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें
स्वंतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता का संकट लगातार गहराता जा रहा है. भारत के लोकतंत्र के लिए यह एक गंभीर और खतरनाक स्थिति है.इस हालात ने पत्रकारों और पाठकों के महत्व को लगातार कम किया है और कारपोरेट तथा सत्ता संस्थानों के हितों को ज्यादा मजबूत बना दिया है. मीडिया संथानों पर या तो मालिकों, किसी पार्टी या नेता या विज्ञापनदाताओं का वर्चस्व हो गया है. इस दौर में जनसरोकार के सवाल ओझल हो गए हैं और प्रायोजित या पेड या फेक न्यूज का असर गहरा गया है. कारपोरेट, विज्ञानपदाताओं और सरकारों पर बढ़ती निर्भरता के कारण मीडिया की स्वायत्त निर्णय लेने की स्वतंत्रता खत्म सी हो गयी है.न्यूजविंग इस चुनौतीपूर्ण दौर में सरोकार की पत्रकारिता पूरी स्वायत्तता के साथ कर रहा है. लेकिन इसके लिए जरूरी है कि इसमें आप सब का सक्रिय सहभाग और सहयोग हो ताकि बाजार की ताकतों के दबाव का मुकाबला किया जाए और पत्रकारिता के मूल्यों की रक्षा करते हुए जनहित के सवालों पर किसी तरह का समझौता नहीं किया जाए. हमने पिछले डेढ़ साल में बिना दबाव में आए पत्रकारिता के मूल्यों को जीवित रखा है. इसे मजबूत करने के लिए हमने तय किया है कि विज्ञापनों पर हमारी निभर्रता किसी भी हालत में 20 प्रतिशत से ज्यादा नहीं हो. इस अभियान को मजबूत करने के लिए हमें आपसे आर्थिक सहयोग की जरूरत होगी. हमें पूरा भरोसा है कि पत्रकारिता के इस प्रयोग में आप हमें खुल कर मदद करेंगे. हमें न्यूयनतम 10 रुपए और अधिकतम 5000 रुपए से आप सहयोग दें. हमारा वादा है कि हम आपके विश्वास पर खरा साबित होंगे और दबावों के इस दौर में पत्रकारिता के जनहितस्वर को बुलंद रखेंगे.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Open

Close
%d bloggers like this: