BokaroJharkhand

झुमरा एवं लुगू पहाड़ के उग्रवाद ग्रस्त टूटीझरना से दो लाख का इनामी नक्सली छोटू मांझी गिरफ्तार

विज्ञापन

Bermo : बेरमो अनुमंडल के घोर नक्सल प्रभावित झुमरा, लुगू व जिनगा पहाड़ी के बीच अति उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र टूटीझरना(तिलैया) से बोकारो पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है. पुलिस बल ने यहां से दो लाख के इनामी नक्सली छोटू मांझी उर्फ छोटू दा को दबोचने में कामयाब हासिल की है.

सूत्रों के अनुसार गिरफ्तार नक्सली के पास से हथियार भी बरामद किये गये हैं. लेकिन, पुलिस कुछ भी नहीं बता रही है. जानकारी के मुताबिक, गिरफ्तार नक्सली छोटू मांझी पर बोकारो, गिरिडीह आदि जिला के विभिन्न थानों में तीन दर्जन से अधिक नक्सली कांडों में संलिप्त रहने का आरोप है.

इसे भी पढ़ें – Ranchi : फादर स्टेन स्वामी के घर एनआइए का छापा

अपने गांव में रहने लगा था

गिरफ्तार नक्सली झुमरा क्षेत्र के कुख्यात नक्सली कमांडर दुर्योधन महतो उर्फ मिथिलेश सिंह उर्फ बड़का दा के दस्ते में सर्वाधिक रूप से सक्रिय रहा है. बताया जाता है कि इसकी पत्नी भी दस्ते में उसके साथ रहती थी. लेकिन कुछ तीन-चार माह पूर्व पत्नी की मौत हो गयी. जिसके बाद से वह अपने पैतृक गांव टूटीझरना में रहने लगा. इसी 26 जुलाई से लेकर 3 अगस्त तक माओवादियों के शहादत दिवस सप्ताह को लेकर चलाये जा रहे अभियान के दौरान पुलिस को नक्सली के गांव में रहने की सूचना मिली थी. जिसके आधार पर पुलिस ने छोटू मांझी को गुरुवार को दबोच लिया.

नक्सली की गिरफ्तारी के बाद मामले में पुलिस की ओर से अनभिज्ञता जाहिर की जा रही है. लेकिन सूत्र बता रहे हैं कि बेरमो के किसी थाने में रख कर उससे पुलिस कड़ाई एवं गहनता से पूछताछ कर रही है. पुलिस को उम्मीद है कि उससे पूछताछ में कई अहम जानकारियां मिल सकती हैं. यह भी खबर है कि एक अन्य युवक को भी पुलिस ने हिरासत में लिया है. बताया जाता है कि करीब 18-19 साल बाद छोटू मांझी अपने घर पहुंचा था. बताया जाता है कि छोटू मांझी नक्सली दस्ते में दूसरी पंक्ति में रहने वाला तेज-तर्रार नक्सली था. यही कारण है कि बोकारो पुलिस द्वारा दुर्दांत नक्सलियों के नाम, पता व ईनाम से संबंधित पोस्टर में इसका जिक्र है.

इसे भी पढ़ें – पारामेडिकल कर्मियों ने कहा- वार्ता के बाद ही टूटेगी हड़ताल, इधर विभाग के तेवर तल्ख

adv
advt
Advertisement

5 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button