Fashion/Film/T.V

छपाक निदेशक मेघना गुलजार ने कहा- सच्ची घटनाओं पर नहीं होता कोई कॉपी राइट

Mumbai: ‘छपाक ’ फिल्म की निदेशक मेघना गुलजार ने मुंबई हाइकोर्ट में बताया कि सच्ची घटनाओं पर किसी का कोई कापीराइट नहीं हो सकता. इसके साथ ही उन्होंने एक लेखक द्वारा दाखिल याचिका को खारिज किए जाने की अपील की.

फिल्म छपाक 10 जनवरी को रिलीज हो रही है. इसमें एसिड अटैक के मुद्दे को उठाया गया है. इस फिल्म में दीपिका पादुकोण मेन एक्ट्रेस है. फिल्म की कहानी सच्ची घटना पर आधारित है.

लेखक का दावा है कि एसिड हमले की पीड़िता पर मूल रूप से कहानी उन्होंने ही लिखी थी जिस पर अब फिल्म बनायी गयी है. गौरतलब है कि बॉलीवुड एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण इस फिल्म में मुख्य भूमिका निभा रही हैं. 

इसे भी पढ़ें- #Mamta_Banerjee का वामदलों और कांग्रेस पर तंज, कहा-जिनका कोई राजनीतिक आधार नहीं, वे कर रहे हैं बंद का आह्वान

advt

याचिका स्वीकार किये जाने योग्य नहीं

लेखक राकेश भारती द्वारा दाखिल याचिका पर दायर हलफनामे में मेघना गुलजार ने यह बात कही है. लेखक ने फिल्म के लेखकों में अपना नाम भी शामिल किये जाने की मांग की है.

फिल्म छपाक की कहानी लक्ष्मी नाम की एक ऐसी लड़की की कहानी है जो एसिड अटैक का शिकार हुई थी.

नायक नायक एंड कंपनी के वकीलों ने अमित नायक और मधु गाडोडिया के जरिए दाखिल किये गये हलफनामे में कहा गया है कि याचिका ‘‘पूरी तरह गलत, मनमानीपूर्ण, कानूनी रूप से गलत है और स्वीकार किये जाने योग्य नहीं है.

इसे भी पढ़ें- कुछ अदालतों में #CISF की तैनाती पर विचार करे केंद्र सरकार :  Supreme court

क्या है हलफनामे में 

एसिड हमले में जिंदा बची लक्ष्मी अग्रवाल की कहानी पर आधारित फिल्म 10 जनवरी को रिलीज हो रही है.

हलफनामे में कहा गया है कि याची भारती ने एसिड हमले में जिंदा बची लक्ष्मी अग्रवाल की कहानी पर आधारित फिल्म के विचार के संरक्षण की मांग की है. इसमे आगे कहा गया है, सच्ची घटनाएं और तथ्य कापीराइट संरक्षण के अधिकारी नहीं हैं.

adv

निदेशक ने इसमें आगे कहा है कि याचिकाकर्ता बेवजह प्रचार पाने के साथ ही मेघना गुलजार पर दबाव बनाना चाहता है. वह मेघना गुलजार की प्रतिष्ठा को आहत कर पैसा ऐंठना चाहता है. दीपिका पादुकोण अभिनीत यह फिल्म दस जनवरी को रिलीज होनी है. 

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button