न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

चतरा : करोड़पति बनने के चक्कर में की गयी थी उपेंद्र की हत्या, दो गिरफ्तार

15 जुलाई को गुरुडीह जंगल में हुई थी उपेंद्र दांगी की हत्या

359

Chatra : प्रतापपुर पुलिस ने एक माह पूर्व हुए उपेंद्र दांगी हत्याकांड में दो लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. गिरफ्तार आरोपियों में प्रखंड के रामपुर पंचायत के गेड़े गांव निवासी राजू कुमार यादव (पिता गुलाब यादव) तथा सिजुआ पंचायत के सिजुआ गांव निवासी संतोष कुमार यादव (पिता कुलेश्वर यादव) शामिल हैं. दोनों ने पुलिस के सामने हत्या में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर ली है.

इसे भी पढ़ें- रांची : हवाई नगर में चार गाड़ियां आपस में टकरायीं, एक की मौत, 10 घायल

ऐसे दिया हत्याकांड को अंजाम

गिरफ्तार किये गये राजू और संतोष ने पुलिस को बताया, “प्रतापपुर क्षेत्र के हमलोग चार व्यक्ति राजस्थान एवं दिल्ली में काम करते थे. काम के दौरान हम चारों में दोस्ती हो गयी. हम चारों लोग कम समय में ही अधिक से अधिक पैसा कमाना चाहते थे. हम चारों ने सोचा कि प्रतापपुर एवं कुंदा क्षेत्र मे व्यापक स्तर पर पोस्ते की खेती होती है. हमलोग भी पोस्ते की तस्करी एवं क्रय-विक्रय कर कम समय में ही पैसा कमाकर करोड़पति बनना चाहते थे. हम चारों राजस्थान एवं दिल्ली की नौकरी छोड़कर वापस आ गये. हंटरगंज के एक दोस्त ने पिस्तौल और गोली दी.” दोनों ने पुलिस को बताया कि इसी दौरान 15 जुलाई को हंटरगंज के चकला गांव निवासी उपेंद्र कुमार (पिता लोकनाथ महतो) बामी से अपने बीमार नाना से मिलकर शाइन मोटरसाइकिल से वापस आ रहा था. चारों आरोपी जोगियारा और बामी के बीच गुरुडीह जंगल में पहले से ही घात लगाये बैठे थे. इनलोगों को यह शक था कि इस क्षेत्र में बाइक से ही पोस्ते की अवैध तस्करी की जाती है. उस दिन शाम को भी जब उपेंद्र कुमार बामी से लौटकर अपने घर जा रहा था, तब जैसे ही वह गुरुडीह जंगल के पास पहुंचा, पहले से ही घात लगाये चारों युवकों ने पहले उपेंद्र कुमार को रुकने को कहा. उसके नहीं रुकने पर उनमें से एक ने पीछे से उस पर गोली चला दी, जिससे मौके पर ही उपेंद्र कुमार की मौत हो गयी. राजू और संतोष ने पुलिस को बताया कि उपेंद्र कुमार की मौत होने पर वे चारों युवक फरार हो गये.

इसे भी पढ़ें- बानो मेंं नौवीं कक्षा की छात्रा ने दुपट्टे से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली

palamu_12

अफीम को लेकर पहले भी दो हत्याएं हो चुकी हैं

विदित हो कि इसके पूर्व भी इस क्षेत्र में अफीम को लेकर दो और हत्याएं हो चुकी हैं. इस संबंध में थाना प्रभारी डोमन रजक ने बताया कि वह उपेंद्र हत्याकांड के उद्भेदन के लिए शुरू से प्रयासरत थे. इसके लिए गुप्तचर एवं सूत्र लगा रखे थे. उन्हें गुप्त सूचना मिली कि दो हत्यारे अपने घर आये हुए हैं. त्वरित कार्रवाई करते हुए टीम गठित कर दोनों हत्यारों को उनके घरों से गिरफ्तार किया गया. पुलिस की पूछताछ में गिरफ्तार राजू कुमार यादव एवं संतोष कुमार यादव ने बताया कि हत्या में चार लोग शामिल थे. थाना प्रभारी डोमन रजक ने बताया कि हत्या में शामिल फरार दो अन्य अभियुक्तों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जायेगा. आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए चले अभियान में पुलिस निरीक्षक सुधीर कुमार चौधरी, थाना प्रभारी डोमन रजक, एसआई श्यामराज साहू सहित जिला बल के जवान शामिल थे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: