ChatraJharkhandLead News

चतरा : 60-60 लाख की लागत से होना था दो सरकारी स्कूलों का निर्माण, 4 साल बाद भी भवन निर्माण कार्य अधूरा

Chatra : उच्च विद्यालय भवन निर्माण भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गयी है. चतरा जिले से महज 15 किलोमीटर की दूरी पर स्थित कान्हाचट्टी प्रखंड के जोरी गांव में उच्च विद्यालय निर्माण कार्य में घटिया सामग्री इस्तेमाल और घोर अनियमितता बरती गयी है.

मिली जानकारी के अनुसार कान्हाचट्टी प्रखंड के जोरी और मनगड्डा गांव में समग्र शिक्षा अभियान के तहत 2017-2018 में 60-60 लाख प्राकल्लन राशि के दो उच्च विद्यालय भवनो का निर्माण कार्य प्रारम्भ किया गया था, पर चार वर्ष बीत जाने के बावजूद अबतक भवन निर्माण कार्य अधूरा पड़ा हुआ है.

दोनों भवनों के निर्माण कार्य का राष्ट्रीय शान की टीम ने जायजा लिया तो भवन की स्थित खंडहर में तब्दील होता नजर आया है. सभी मार्बल टाइल्स उखड़ रहे हैं. कमरों में लगाई गयी खिड़कियां कबड़ गया है और एक भी दरवाजा नहीं है.

advt

इसे भी पढ़ें:असम: कब्जा हटाने गयी पुलिस से भिड़े लोग, दो प्रदर्शनकारियों की मौत, 9 पुलिसकर्मी घायल

इसके निर्माण कार्य मे संवेदक और कनीय अभियन्ता शिवनारायण की मिली भगत साफ दिखाई पड़ता है. घटिया सामग्री का इस्तेमाल करते हुए अधिकांश राशि की निकासी कर ली गयी है. जो जांच का विषय है.

कनीय अभियंता श्यामनारायण वर्ष 2005 से चतरा जिले में अब तक पदस्थापित हैं. उनपर कई तरह से आरोप भी हैं.

इसे भी पढ़ें: आत्मसमर्पण करनेवाले नक्सलियों को ओपन जेल में रखें: मुख्यमंत्री

जोरी उच्च विद्यालय भवन का बाहर से रंग रोगन किया जा रहा है और लगाया गया घटिया मार्बल उखड़ रहा है. भवन निर्माण कार्य में बरती जा रहे अनियमितता को लेकर ग्रामीण जिला शिक्षा पदाधिकारी के पास गए परन्तु उन्होंने बताया कि यह मेरे मॉनेटरिंग क्षेत्र से बाहर है.

इसे भी पढ़ें:यौन शोषण मामले में सुनील तिवारी की जमानत याचिका एससी-एसटी स्पेशल कोर्ट ने की खारिज

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: