ChatraJharkhand

चतरा: मजिस्ट्रेट की निगरानी में हुआ राजू तुरी का पोस्टमार्टम, इलाज के दौरान मंडल कारा के कैदी की हुई थी मौत

Chatra: एनडीपीएस एक्ट के मामले में मंडल कारा में एक महीने बंद कैदी राजू तुरी की ईलाज के दौरान हुई मौत. मृतक के परिजनों ने जेल अधीक्षक पर लगाया लापरवाही का आरोप. सादे कागज पर हस्ताक्षर करवाने का भी जेल प्रबंधन पर लगाए गंभीर आरोप. परिजनों के अनुसार जेल प्रबंधन द्वारा परिजनों को नहीं दी गई थी राजू तुरी के बीमार होने की सूचना. इलाज के दौरान सदर अस्पताल में हुआ है कैदी राजू तूरी का मौत. विगत 3 नवंबर को पत्थलगड़ा थाना क्षेत्र के मेराल गांव से ब्राउन शुगर के साथ गिरफ्तार कर राजू को पुलिस ने भेजा था जेल. देर रात ही इलाज के दौरान राजू ने दम तोड़ दिया था लेकिन रविवार शाम 4 बजे तक पोस्टमार्टम नहीं हो सका था. पत्नी और 8 साल की बेटी परेशान थी कभी अस्पताल जाए कभी जेल गेट जाए लेकिन सुधि लेने वाला कोई नहीं था तब जाकर चतरा उपायुक्त अबू इमरान को जानकारी मिली तो पत्नी और बेटी को परेशानी दूर हुई. मजिस्ट्रेट की निगरानी में राजू तुरी का तीन डाक्टरों टीम ने पोस्टमार्टम किया मौके पर अनुमंडल पदाधिकारी मुमताज अंसारी एसडीपीओ अविनाश कुमार सीओ भागीरथ महतो सदर थाना प्रभारी सुधीर चौधरी अलावे जेल का जेलर दिनेश प्रसाद वर्मा मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें: देवघर: अवैध बालू उत्खनन का ग्रामीणों ने किया विरोध, ट्रैक्टर लेकर माफिया हुए फरार

Related Articles

Back to top button