ChatraJharkhand

टीएसपीसी नक्सलियों के विरुद्ध चतरा पुलिस को मिली बड़ी सफलता, पुलिस से लूटी गयी रायफल के साथ 451 कारतूस बरामद

♦लावालौंग थाना क्षेत्र के सिलदाग के खामडीह के जंगल से हुई बरामदगी

♦पुलिस बल को क्षति पहुंचाने के उद्देश्य से छुपा कर रखा गया था

Chatra : चतरा पुलिस को जिले में सक्रिय प्रतिबंधित नक्सली संगठन टीएसपीसी के विरुद्ध एक बार फिर बड़ी सफलता हाथ लगी है. एसपी ऋषभ झा को मिली गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस और सीआरपीएफ 190 बटालियन की संयुक्त टीम ने लावालौंग थाना क्षेत्र के सिलदाग खामडीह जंगल से पुलिस से लूटी गयी राइफल के साथ भारी मात्रा में जिंदा कारतूस बरामद किया है.

इसे भी पढ़ें – चारा घोटाला : लालू प्रसाद की जमानत के मामले में सीबीआइ ने शपथपत्र दायर किया

पुलिस को यह सफलता पूर्व में गिरफ्तार नक्सली सब जोनल कमांडर कृष्णा गंझू की निशानदेही पर हाथ लगी है. समाहरणालय स्थित पुलिस अधीक्षक कार्यालय में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में एसपी ऋषभ झा ने बताया कि गिरफ्तार सब जोनल कमांडर ने पूछताछ के दौरान बताया था कि पेट्रोलिंग पर निकली पुलिस पार्टी को निशाना बनाने के उद्देश्य से बड़े पैमाने पर हथियार और कारतूस लावालौंग जंगल मे छिपा कर रखे गये हैं.

इसे भी पढ़ें – विधायक ढुलू महतो के समर्थक पर लगाया हमले का आरोप

जमीन में गाड़ कर रखे गये थे हथियार

सूचना के आधार पर एएसपी अभियान निगम प्रसाद और सिमरिया एसडीपीओ बचन देव कुजूर के नेतृत्व में संयुक्त टीम बना कर अभियान चलाने का निर्देश दिया गया था. अभियान के दौरान ही सिलदाग खामडीह जंगल से पुलिस से लूटी गयी रायफल के साथ भारी मात्रा में कारतूस बरामद किया गया. यह हथियार और गोली नक्सलियों द्वारा जमीन में गाड़ कर रखे गये थे. उन्होंने बताया कि अभियान के दौरान पुलिस से लूटी गयी .303 बोर का खाली मैगजीन लगा रायफल, .303 एमएम की 189, .306 एमएम की 237, 7.62 एमएम की 18, आठ एमएम की 07 जिंदा गोली, विभिन्न नम्बर लिखा .306 एमएम का आठ खाली खोखा व 11 पीस गोली चार्जर बरामद किया गया है. प्रेस कॉन्फ्रेंस में सीआरपीएफ के कमांडेंट पवन कुमार बासन, एएसपी अभियान निगम प्रसाद व एसडीपीओ अविनाश कुमार उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें – धनबाद : तीन दिन बाद एनडीआरएफ की टीम ने तालाब से निकाला युवक का शव

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: