ChatraJharkhandRanchiTODAY'S NW TOP NEWS

ना रैयतों को दिया मुआवजा, ना लिया लाइसेंस और शुरू हो गया चतरा शिवपुर रेलवे साइडिंग

Ranchi: चतरा के टंडवा के आम्रपाली कोल परियोजना से छह किमी दूर पर शिवपुर रेलवे साइडिंग बनाया गया है. यह रेलवे साइडिंग सीसीएल की है. यहां से कोयला लोडिंग का काम भी शुरू हो गया है. और अब तक दो रैक कोयला लोड करके बाहर भेजा जा चुका है.

आरोप है कि रेलवे साइडिंग शुरू करने से पहले जरूरी प्रक्रिया को पूरा नहीं किया गया है. जिन रैयतों की जमीन पर कोयला स्टॉक किया जा रहा है, उन रैयतों को मुआवजा भी नहीं दिया गया है. और न ही गैर मजरुआ जमीन के इस्तेमाल के लिये जरूरी प्रक्रिया पूरी की गयी है.

advt

ग्रामीणों ने किया विरोध तो दर्ज करा दी प्राथमिकी

कोयला लोडिंग का काम मां अंबे माइनिंग प्राइवेट लिमिटेड कर रहा है. कुछ दिन पहले ग्रामीणों ने जब विरोध किया था, तो उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करा दी गयी थी.

प्राथमिकी सीसीएल के एमडी ने दर्ज कराया था. जिसमें ग्रमीणों पर आइपीसी की अन्य धाराओं के अलावा सरकारी काम में बाधा उत्पन्न करने की कोशिश करने का आरोप लगाया गया है.

कुछ जानकारों का यह भी कहना है कि अब तक सीसीएल ने इस साइडिंग का टेंडर भी नहीं किया है. इस संबंध में सीसीएमल के मगध-आम्रपाली जीएम और मां अंबे माइनिंग प्राइवेट लिमिटेड के प्रबंधन से बात करने की कोशिश की गयी, लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो पाया. उनसे संपर्क होने और पक्ष देने पर उसे भी प्रकाशित किया जायेगा.

करनी होती है कुछ जरूरी प्रक्रिया पूरी

जानकारी के मुताबिक किसी भी रेलवे साइडिंग पर कोयला लोडिंग करने के लिये कुछ जरूरी प्रक्रिया पूरी करनी होती है. जरूरी लाइसेंस लेने होते हैं. उनमें मुख्य निम्न हैःं-

  • रैयतों की जमीन का इस्तेमाल करने पर रैयतों को मुआवजा देना होता है.
  • अगर गैर मजरुआ भूमि का इस्तेमाल होता है, तो इसके लिये डीसी से अनुमति लेना जरूरी है.
  • अगर जंगल भूमि का उपयोग होता है, तो वन विभाग से अनुमति लेना जरूरी है.
  • ट्रांसपोर्ट कंपनी को खनन विभाग से डीलर का लाइसेंस प्राप्त करना होता है.
  • प्रदूषण नियंत्रण विभाग से सीटीओ प्रमाण पत्र लेना होता है.
  • जिस जगह पर कोयला एकत्र किया जाता है, वहां से धूल उड़ कर ग्रामीणों के घरों या खेतों तक ना पहुंचे, इसके लिये ऊंची चारदीवारी का निर्माण करना होता है.
  • The Jharhand Minerals (prevention of illegal mining, Transportation & Storage) Rules 2017 के नियम-3 तहत ट्रांसपोर्ट कंपनी को कोयला भंडारण का लाइसेंस लेना होता है.
Nayika

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: