न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

चतरा: पत्रकार हत्याकांड का आरोपी नक्सली प्रशांत गिरफ्तार, नकद व मोबाइल फोन जब्‍त

डेढ़ दर्जन मामलों में थी पुलिस को तलाश, पलामू से हुई गिरफ्तारी

33

Chatra: पुलिस ने ईलाके में सक्रिय तृतीय सम्मेलन प्रस्तुति कमेटी नक्सली संगठन को एक बार फिर बड़ा झटका दिया है. गुप्त सूचना के आधार पर चतरा पुलिस की टीम ने पलामू पुलिस के सहयोग से आतंक का पर्याय बन चुके दुर्दांत एरिया कमांडर प्रशांत उर्फ पंकज उर्फ अवधेश सिंह को गिरफ्तार किया है. वह पत्रकार चंदन तिवारी हत्याकांड समेत दर्जनों मामलों का नामजद आरोपी है. उसके पास से पुलिस ने 34.5 हजार रुपये नकद समेत सैमसंग कंपनी के तीन मोबाइल फोन बरामद किये हैं.

कई मामलों में थी प्रशांत की तलाश

समाहरणालय स्थित कार्यालय कक्ष में आयोजित प्रेस वार्ता में एसपी अखिलेश वी वारियर ने बताया कि पत्रकार चंदन तिवारी हत्याकांड मामले का नामजद अभियुक्त प्रशांत के विरुद्ध चतरा के विभिन्न थानों समेत पलामू व हजारीबाग के विभिन्न थानों में नक्सल हत्या, आगजनी, लेवी व मारपीट समेत कई मामले दर्ज हैं. इन सभी मामलों में पुलिस को लंबे समय से प्रशांत की तलाश थी.

पांकी के डंडारकला गांव से हुई गिरफ्तारी

एसपी ने बताया कि प्रशांत की गिरफ्तारी पलामू जिले के पांकी थाना क्षेत्र अंतर्गत डंडारकला गांव से हुई है. उन्होंने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी कि विभिन्न नक्सल मामलों का वांछित प्रशांत अपने घर गया हुआ है. इसी सूचना पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने पलामू पुलिस के सहयोग से संयुक्त टीम का गठन कर उसे गिरफ्तार करने में सफलता पायी है. एसपी ने बताया कि प्रशांत मेराल में नागेश्वर गंझू हत्याकांड, कसीबार पुलिस मुठभेड़, हुरणाली पुलिस मुठभेड़ व पत्थलगड्डा में पत्रकार चंदन तिवारी हत्याकांड में महत्वपूर्ण भूमिका में था.

silk_park

रिमांड में लेगी पुलिस

एसपी ने बताया कि पुलिस प्रशांत को जेल भेजने के बाद उसे रिमांड पर लेकर एकबार फिर पूछताछ करेगी. अभियान में अपर पुलिस अधीक्षक अभियान निगम प्रसाद, एएसपी अभियान पलामू अरुण कुमार सिंह, सिमरिया थाना प्रभारी शम्भू शरण दास, पांकी थाना प्रभारी मनोज कुमार तिवारी समेत सैट-5 और जिला बल के जवान शामिल थे.

इसे भी पढ़ें: ढुल्लू का रंगदारी मामले पर पलटवार, कहा- दो नंबर का काम करते हैं हार्ड कोक भट्ठा चलानेवाले

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: