ChatraJharkhandTODAY'S NW TOP NEWS

चतराः जबरन दुकानें बंद करा रहे समर्थक गिरफ्तार, सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

Chatra: झारखंड सरकार के भूमि अधिग्रहण बिल के विरोध में महागठबंधन द्वारा बनाए गए झारखंड बंद का जिलों में खासा असर देखने को मिल रहा है.

पूर्व मंत्री और झाविमो नेता सत्यानंद भोक्ता के नेतृत्व में बंद समर्थक सड़क पर उतरे और चतरा-गया व गया-रांची मुख्यपथ राष्ट्रीय राजमार्ग 99 पर स्थित शहर के केसरी चौक को जाम कर दिया जिससे गाड़ियों का आवागमन बाधित है.

बंद समर्थको ने निकला जुलूस

advt

इस दौरान बंद समर्थकों ने शहर में खुली छिटपुट दुकानों को जबरन बंद कराने का भी प्रयास किया गया. लेकिन मौके पर मौजूद अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी व थाना प्रभारी समेत अन्य जवानों ने उनकी इस योजना को विफल करते हुए उन्हें गिरफ्तार कर लिया.

इसे भी पढ़ें:-बंद 9:00 बजे तक : गिरिडीह में सुबह से ही सड़कों पर उतरे बंद समर्थक, बस स्टैंड में सन्नाटा

केसरी चौक को जाम कर रहे झामुमो, राजद, कांग्रेस, जेवीएम व अन्य विपक्षी दलों के करीब 60 नेताओं व कार्यकर्ताओं को पुलिस गिरफ्तार करके नगर भवन स्थित कैंप जेल ले गई.

इससे पूर्व गठबंधन में शामिल विपक्षी दलों के नेताओं ने शहर में रैली निकालकर जमकर सरकार विरोधी नारे लगाए. मौके पर पूर्व मंत्री ने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि करीब साढ़े चार साल में प्रदेश की रघुवर सरकार ने सिर्फ जनता को लूटने का काम किया है.

सत्यानंद भोक्ता नेता जेवीएम

adv

उन्होंने कहा कि प्रदेश में घोषणाओं की सरकार हैं जो सिर्फ लंबी-लंबी बातें करती है. पूर्व मंत्री ने भूमि अधिग्रहण बिल को गरीब विरोधी बिल करार देते हुए इसे तत्काल खारिज करने की मांग की. उन्होंने कहा कि इस सरकार के कार्यकाल में एक भी विकास का कार्य धरातल पर नहीं उतरा है.

इसे भी पढ़ेंः 10:00 AM बंद को सफल बनाने निकले समर्थक, रातू में निकाला जुलूस

वही झारखंड बंद के कारण चतरा से अन्य जिलों के लिए खुलने वाली लंबी दूरी की वाहनों का परिचालन पूरी तरह से बाधित रहा. ज्यादातर दुकानों के शटर भी बंद रहें.

हालांकि इस दौरान कुछ छिटपुट दुकानें भी खुली और ऑटो का परिचालन भी हुआ. जिसे बंद समर्थकों ने जबरन बंद कराने का प्रयास किया. लेकिन पुलिस की तत्परता से उनकी यह योजना विफल हो गई. शहर की सड़कों पर भी सन्नाटा रहा.

बंद के दौरान सुरक्षा सख्त

बता दें कि भूमि अधिग्रहण संशोधन बिल के खिलाफ विपक्ष ने गुरुवार को झारखंड बंद बुलाया है. इसे लेकर जिला प्रशासन भी मुस्तैद है. व्यापक पैमाने पर सुरक्षा बलों की तैनाती की गई है वही दंडाधिकारी प्रतिनियुक्त किए गए है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button