Sports

बदलाव :  इंग्लैड की महिला क्रिकेट टीम में बढ़ेगी अल्पसंख्यक खिलाड़ियों की संख्या

विज्ञापन

London :  इंग्लैंड की तरफ से खेलने वाली पहली महिला अश्वेत क्रिकेटर इबोनी रेनफोर्ड ब्रेंट को लगता है कि फुटबाल की तुलना में महिला क्रिकेट में विविधता की कमी है.

रेनफोर्ड ब्रेट सर्रे की महिला क्रिकेट की निदेशक भी हैं और उन्होंने अल्पसंख्यकों की भागीदारी बढ़ाने के लिये छात्रवृत्ति कार्यक्रम भी शुरू किया है. सर्रे ने शुरू में 12 छात्रवृत्तियों से शुरुआत की है और अगर इसमें लोग दिलचस्पी दिखाते हैं तो इसे बढ़ाया जा सकता है.

advt

इसे भी पढ़ेंः शेयर बेचकर 150 अरब डॉलर जुटाने वाली भारत की पहली कंपनी बनी रिलायंस इंडस्ट्रीज

अभी ये है स्थिति

इंग्लैंड महिला क्रिकेट की तरफ से अभी तक अश्वेत और एशियाई मूल की चार खिलाड़ी ही खेली हैं. रेनफोर्ड ब्रेंट के अलावा इनमें ईशा गुहा, सोनिया ओडेड्रा और सोफिया डंकले शामिल हैं.

रेनफोर्ड ब्रेंट ने कहा, ‘‘जब मैं तमाम मुश्किलों के बावजूद फुटबाल के बारे में सुनती हूं तो मुझे ईर्ष्या होती है क्योंकि वहां सभी वर्गों की भागीदारी है. जहां तक महिला क्रिकेट की बात है तो इसमें वास्तव में विविधता नहीं है. ’’

adv

अमेरिका में अफ्रीकी मूल के अमेरिकी जार्ज फ्लॉयड की एक श्वेत पुलिस अधिकारी के हाथों मौत के बाद समाज में व्याप्त नस्लवाद के खिलाफ दुनिया भर में विरोध के स्वर मुखर हो रहे हैं.

इसे भी पढ़ेंः नेपाल से संबंध बिगड़ने का असर, बांध मरम्मत रोका, बिहार में बाढ़ का खतरा बढ़ा

इसे भी पढ़ेंः पेट्रोल-डीजल की दाम में लगी आग, जानें क्या है आज का भाव

 

 

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close